PM to launch Kovid Vaccination program at IGMC and Tanda Medical College on January 16
PM to launch Kovid Vaccination program at IGMC and Tanda Medical College on January 16
हिमाचल-प्रदेश

प्रधानमंत्री 16 जनवरी को करेंगे आईजीएमसी और टांडा मैडिकल कालेज में कोविड वेक्सीनेशन कार्यक्रम की शुरूआत

news

धर्मशाला, 14 जनवरी (हि.स.) । हिमाचल में देश के अन्य राज्यों के साथ ही कोरोना महामारी की जंग को जीतने के लिए वेक्सीनेशन कार्यक्रम की शुरूआत होने जा रही है। इस कार्यक्रम की शुरूआत 16 जनवरी को प्रदेश के दो सबसे बड़े स्वास्थ्य संस्थानों टांडा मेडिकल कॉलेज कांगड़ा और आईजीएमसी शिमला में होगी। सबसे अहम बात यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद वैक्सीनेशन कार्यक्रम से जुड़कर इस दौरान वेक्सीनेशन लेने वाले फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कर्मियों से बात करेंगे। इसके लिए प्रदेश के दोनों बड़े अस्पतालों में तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। ऑनलाइन चलने वाले इस कार्यक्रम में टू वे इंटरेक्ट साइट्स तैयार की गई हैं। एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी होंगे और दूसरी तरफ वैक्सीन लेने वाले बेनेफिशरी। इसके लिए दो अलग-अलग साइटें बनाई गई हैं। जिन फ्रंट लाइन हेल्थ वर्कर को वैक्सीनेशन दी जानी है उन्हें उसी दिन सुबह मैसेज आएगा। स्वास्थ्य विभाग ने इस कार्यक्रम के लिए अस्पताल में काम करने वाले सभी तरह के स्टाफ को चुना है। इनमें डॉक्टर, नर्सिज, सफाई कर्मचारी, वार्ड बॉय और अस्पताल में ड्यूटी करने वाले सुरक्षाकर्मी भी शामिल किए गए हैं। वैक्सीनेशन शुरू होने के दौरान अपनाई जाने वाली इस प्रक्रिया के लिए अलग से व्यवस्था की गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इसके लिए तीन कमरे बनाए गए हैं। जिनमें सबसे पहले वेटिंग रूम में वैक्सीनेशन लेने वाले कर्मी आएंगे। उसके बाद उन्हें अगले कमरे में वैक्सीनेशन दी जाएगी और उसके पश्चात उन्हें करीब आधे घंटे के लिए ओवजर्वेशन के लिए अगले कमरे में रखा जाएगा। इसके बाद ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबसे पहले वैक्सीनेशन लेने वाले फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर से बात करेंगे। वेक्सीनेशन कार्यक्रम 16 जनवरी को सुबह नौ बजे शुरू हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिमला और टांडा मेडिकल कॉलेज में सबसे पहले वैक्सीनेशन लेने वाले किसी भी व्यक्ति से बात कर सकते हैं। प्रधानमंत्री इस दौरान किसी भी हेल्थ वर्कर से बात कर सकते हैं। इस बात का चयन स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। कार्यक्रम के दौरान ही प्रधानमंत्री कहेंगे कि उन्हें डॉक्टर, नर्स या सफाई कर्मचारी किस व्यक्ति से बात करनी है। इस तरह से कोरोना संक्रमण से लंबे समय से जूझ रहे देश वासियों के लिए जब वैक्सीनेशन की नई शुरुआत हो रही है उस दौर में तमाम सारी औपचारिकताओं के साथ-साथ इसे विशेष अभियान के रूप में भी लिया जा रहा है। यही वजह है कि स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस वैक्सीनेशन कार्यक्रम के दौरान देशभर में करीब 27 स्थानों के लोगों से जुड़ रहे हैं। टांडा मेडिकल कॉलेज कम्युनिटी मेडिसिन के विभागाध्यक्ष डॉ. सुनील रैना का कहना है कि भारत सरकार दुनिया का सबसे सफल वैक्सीनेशन अभियान चलाती है। ऐसे में लोगों को भी इन कार्यक्रमों में अधिक से अधिक सहभागिता दिखानी होगी। उन्होंने सभी लोगों से आह्वान किया है कि वह कोविड-19 वैक्सीन कार्यक्रम से जुड़े। वहीं टांडा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. भानु अवस्थी का कहना है कि भारत सरकार की ओर से वैक्सीनेशन का जो कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है यह बहुत ही सफल कार्यक्रम है। केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग के दिशा-निर्देशों अनुसार टांडा मेडिकल कॉलेज इस कार्यक्रम के लिए पूरी तरह से तैयार है हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/सुनील-hindusthansamachar.in