विश्व हेपेटाइटिस दिवस 28 को
विश्व हेपेटाइटिस दिवस 28 को
news

विश्व हेपेटाइटिस दिवस 28 को

news

कोरिया 27 जुलाई(हि.स.)। कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से सावधानियों और सलाह को सुनिश्चित करते हुये प्रतिवर्ष की तरह विश्व हेपेटाइटिस दिवस 28 जुलाई को मनाया जायेगा। हेपेटाइटिस के बारे में जनसमुदाय में जागरूकता बढाने और इसके रोकथाम के लिए हेपेटाइटिस बी वायरस (एचबीवी) के खोजकर्ता नोबेल-पुरस्कार विजेता वैज्ञानिक डॉ. बारूक ब्लमबर्ग, जिन्होंने वायरस के लिए एक नैदानिक परीक्षण और टीका विकसित किया था, के जन्मदिवस के अवसर पर सम्मान देने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष 28 जुलाई विश्व हेपेटाइटिस दिवस मनाया जाता है। सोमवार को इस दिवस की जानकारी देते हुए सीएमएचओ डां. रामेश्वर शर्मा ने बताया, “हेपेटाइटिस मानसून के दौरान अधिक फैलता है, इसलिए इस मौसम में तैलीय, मसालेदार, मांसाहारी और भारी खाद्य पदार्थो के सेवन से परहेज करना चाहिए| हेपेटाइटिस के लिए जागरूकता ही बचाव है। यकृत में होने वाली सूजन की प्रमुख वजहो में हेपेटाइटिस वायरस ए, बी, सी, डी और ई ही माना जाता है जो यकृत पर हमला कर यकृत कोशिकाओं को खत्म कर देते हैं। इस रोग के बढ़ने पर सिरोसिस, लिवर कैंसर या जिगर फेल होने की संभावना हो सकती है। हेपेटाइटिस वायरस मुख्यतः पांच प्रकार के होते है। हेपेटाइटिस ए और इ दूषित जल व दूषित भोजन के कारण होते है। हेपेटाइटिस बी, सी और डी, एचआईवी की ही तरह संक्रमित रक्त और शरीर के संक्रमित द्रवों से फैलते हैं। हेपेटाइटिस फैलने का प्रमुख कारण मां से बच्चे में वायरस का संचारित होना है। इसके अलावा असुरक्षित रक्त संक्रमण, असुरक्षित यौन संबंध, असुरक्षित सुइयों का इस्तेमाल भी संचरण का कारण है। हेपेटाइटिस के विषय में जानकारी और सावधानी रख कर हेपेटाइटिस के संक्रमण से बचाव संभव हो सकता है, जागरूक होकर लोग हेपेटाईटिस की जांच कराएं और वैक्सीन ले तो इस बीमारी से निजात पाई जा सकती है। हिन्दुस्थान समाचार / महेन्द्र पाण्डेय-hindusthansamachar.in