सुकमा : नक्सलियों के कोन्टा एरिया कमेटी ने जारी किया पर्चा

सुकमा : नक्सलियों के कोन्टा एरिया कमेटी ने जारी किया पर्चा
sukma-konta-area-committee-of-naxalites-issued-form

ग्रामीणों को नक्सली बताकर गिरफ्तार करने का लगाया आरोप सुकमा, 22 मई (हि.स.)। नक्सलियों के कोन्टा एरिया कमेटी द्वारा पर्चा जारी कर पुलिस पर झूठे आरोपों में आम ग्रामीणों को गिरफ्तार कर जेलों में बंद करने का आरोप लगाया है। नक्सलियों ने पर्चे में केन्द्र और राज्य सरकारों के नेतृत्व में नक्सली उन्मूलन के नाम पर विगत 15 दिनों में सुकमा जिले के कोन्टा एरिया कमेटी के अंतर्गत कई गांवों में पुलिस द्वारा हमला कर रहे हैं, वहीं ग्रामीणों को गिरफ्तार कर बेदम पिटाई कर झूठे केसों में जेल में डालने का पुलिस द्वारा एक मई से पंद्रह मई तक अलग-अलग गांवों में हमला कर भय का माहौल पैदा किया गया है। नक्सली पर्चे में किस गांव से कितनी गिरफ्तारी की गई है उसका आंकड़ा भी लिखा है जिसमें ग्राम बोदा गुब्बाल के 10, लेंड्रा के पांच, कुर्तीपारा के तीन, पेन्टा के तीन, चिंतागुफा के 21, रेगडग़ट्टा के दो, एलाड़मडग़ु के 33, अरलमपल्ली के 37, तोयापारा के तीन और तोलनई के पांच सहित दस से बारह गांवों पर पुलिस हमला कर लोगों को कैम्प ले जाकर कुछ लोगों को करंट के झटके देने के साथ पिटाई करने का आरोप लगाया गया है। वहीं पर्चे में लिखा गया है की जो भी इसाई धर्म अपनाने से इनकार करता है उनकी पुलिस से पिटाई करवाकर गिरफ्तार करवाया जाता है। पार्चा में नक्सलियों ने मुखबिरी करने वालों को मौत की सजा देने की चेतावनी दी गई है। सुकमा एसपी कन्हैया लाल ध्रुव ने नक्सलियों के आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि जिले में अलग-अलग इलाकों में नक्सल घटनाओं में शामिल नक्सलियों पर कार्रवाई करते हुए गिरफ्तारी की गई है, जबकि निर्दोष लोगों के साथ किसी भी तरह की मारपीट नहीं की गई है। जिले में लगातार घटनाओं में शामिल नक्सलियों की धरपकड़ तेज की गई है, आगे भी नक्सलियों की गिरफ्तारी जारी रहेगी। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश पांडे