sukma-despite-spending-millions-farmers-are-not-getting-the-benefit-of-solar-scheme
sukma-despite-spending-millions-farmers-are-not-getting-the-benefit-of-solar-scheme
news

सुकमा : लाखों खर्च करने के बावजूद सोलर योजना का किसानों को नहीं मिल रहा लाभ

news

सुकमा, 26 फरवरी (हि. स.)। जिले में सोलर सिंचाई योजना भ्रष्टाचार की गढ़ बन चुका है। इस योजना का लाभ किसान ले नहीं पा रहे हैं। जिले में अब तक करोड़ो खर्च किया जा चुका है लेकिन सामुदायिक सोलर सिंचाई योजना दम तोड़ चुका हैं। विभागीय लापरवाही के कारण आज किसानों के पास सिंचाई योजना पहुंचने का भी लाभ नहीं मिल पा रहा है। सामुदायिक सिंचाई योजना में घटिया मटेरियल का उपयोग किए जाने से एवं तकनीकी खामियों की लापरवाही की वजह से आज लाखों खर्च कर केरलापाल तैयार किया गया, सामुदायिक सिंचाई योजना कबाड़ में तब्दील हो चुका है। जिसका शुरुआती समय पर पाइप बदलने का काम किया गया। लेकिन इसमें तकनीकी खामियां एवं अमानक स्तर की पाइप का उपयोग किए जाने से जगह-जगह पाइप फट चुका है जिसके कारण पानी की सप्लाई होना मुश्किल है। लाखों खर्च लेकिन किसानों को नहीं मिल रहा लाभ जिले में क्रीड़ा विभाग के द्वारा लगाए जा रहे हैं सामुदायिक सिंचाई सोलर योजना दम तोड़ चुकी है। इस योजना से आज तक सोलर सिंचाई पंप के माध्यम से एक बूंद भी पानी की सिंचाई नहीं हो पाई है। इस योजना में केवल धरातल लाकर राशि आहरण तक सीमित है। इसका कोई सफल रूप से अब तक कृषि क्षेत्र में देखने को नहीं मिल रहा है। किसानों का कहना है कि यहां सोलर प्लांट लगाने में कई तकनीकी खामियां बरती जा रही है, जिसकी वजह से सोलर सही से नहीं चल पाता है और इस पर पानी नहीं आने की वजह से भी खेती नहीं कर पाते हैं । पहले हो चुका है मरम्मत नहीं मिलता कोई परिणाम केरलापाल स्थित नदी के किनारे में लगा सामुदायिक सोलर सिंचाई योजना का कई बार मरम्मत किया जा चुका है लेकिन इसकी पाइप लाइन विस्तार में अमानक स्तर लगा दिया गया है। वहीं मरम्मत के बाद भी अगर चालू हो जाता है तो चंद घंटे भी नहीं टिक पाता है और पानी की प्रेशर से पाइप की कई जगह से फट जाता है। इस योजना का किसानों के खेतों में अब तक एक बूंद भी पानी नहीं पहुंच पाया है। इस मामले में केरलापाल निवासी लक्की ने बताया कि गांव में लगा सोलर सिंचाई योजना का लाभ किसानों को नहीं मिल पा रहा है। किसानों की उम्मीद जागी थी कि सोलर लगने से खेतों तक पानी पहुंचेगा, लेकिन इसके लगने का भी कोई लाभ नहीं हो रहा है । सामुदायिक सोलर योजना से करीब 25 से 30 किसानों को इसका लाभ मिलना था लेकिन वह भी नहीं मिल पा रहा है। किसान मड़कम भीमा ने बताया कि नदी किनारे सोलर लगने के बाद भी इसका लाभ नहीं मिल रहा है और खेतो के सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल रहा है। जब भी सोलर खराब होता है तो उसका मरम्मत कर दिया जाता है। सोलर चालू होने की कुछ घंटों के बाद ही बंद हो जाता है। लेकिन पानी खेतों तक नहीं पहुंचता है, पाइप लाइन में कई तरह की दिक्कतें हैं जिसके कारण से खेतों तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है । वहीं इस मामले में क्रेडा विभाग के अधिकारी जीआर मरकाम से चर्चा करने पर बताया कि केरलापाल का सामूहिक सोलर योजना चालू है किसान इसका उपयोग नहीं करते हैं। अगर खराब है तो मरम्मत किया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार / मोहन ठाकुर