सन्यास के आठ साल बाद भी तेंदुलकर की लोकप्रियता बरकरार

सन्यास के आठ साल बाद भी तेंदुलकर की लोकप्रियता बरकरार
tendulkar39s-popularity-continues-even-after-eight-years-of-retirement

नई दिल्ली, 20 जून(हि.स.)। भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की महानता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि आज सन्यास के 8 साल बाद भी उनकी लोकप्रियता में कमी नहीं आई है। तेंदुलकर को 21वीं सदी का सबसे महान टेस्ट बल्लेबाज चुना गया है। स्टार स्पोर्ट्स के पोल में सचिन तेंदुलकर को 21वीं सदी का सबसे महान बल्लेबाज चुना गया है। भारत और न्यूजीलैंड के बीच जारी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के आधिकारिक प्रसारणकर्ता स्टार स्पोर्ट्स ने इसकी घोषणा शनिवार को की। मास्टर ब्लास्टर को श्रीलंका के पूर्व खिलाड़ी कुमार संगकारा से कड़ी टक्कर मिली। सचिन और संगकारा को बराबर अंक मिले थे लेकिन ज्यूरी के सदस्यों ने भारतीय खिलाड़ी के पक्ष में ज्यादा वोट किए। स्टार स्पोर्ट्स ने डब्ल्यूटीसी फाइनल से पहले टेस्ट क्रिकेट में 21वीं सदी का सबसे महान खिलाड़ी चुनने की एक अनूठी पहल की थी। स्टार स्पोर्ट्स की ओर से बल्लेबाज, गेंदबाज, ऑलराउंडर और कप्तान चार श्रेणियों में एक खिलाड़ी को चुना जाना था। बल्लेबाज कैटेगरी में सचिन तेंदुलकर, स्टीवन स्मिथ, कुमार संगकारा और जैक कैलिस शामिल थे। उल्लेखनीय है कि इंटरनेशनल क्रिकेट में सचिन के नाम ढेरों रिकॉर्ड दर्ज है। सचिन ने 200 टेस्ट मैच में 51 शतक की बदौलत 15921 रन बनाए हैं। वह क्रिकेट के सबसे लंबे फॉर्मेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। सचिन के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक दर्ज हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ श्वेतांक

अन्य खबरें

No stories found.