भारत के अंतिम एकादश में एक तेज गेंदबाज आलराउंडर को होना चाहिए था : मिश्रा

 भारत के अंतिम एकादश में एक तेज गेंदबाज आलराउंडर को होना चाहिए था : मिश्रा
should-have-been-a-fast-bowler-all-rounder-in-india39s-playing-xi-mishra

मुंबई, 19 जून (आईएएनएस)। अनुभवी भारतीय लेग स्पिनर अमित मिश्रा का मानना है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ जारी वल्र्ड टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल के अंतिम एकादश में भारतीय टीम में एक तेज गेंदबाज आलराउंडर को होना चाहिए था। इंग्लैंड के साउथम्पटन स्थित एजेस बाउल में जारी डब्ल्यूटीसी फाइनल का पहला दिन शुक्रवार को बारिश के कारण टॉस भी नहीं हो पाया और पूरे दिन का खेल धूल गया। मिश्रा ने एक समाचार चैनल से कहा, अंतिम एकादश बहुत शानदार है। हमारे पास रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा के रूप में दो बेहतरीन स्पिन है, जोकि बल्ले से भी अपना योगदान दे सकते हैं। इन दोनों की बल्लेबाजी भारत को काफी मदद करेगी। मुझे लगता है कि भारत के अंतिम एकादश में एक तेज गेंदबाज आलराउंडर को भी होना चाहिए था, जोकि नियमित तेज गेंदबाजों के थकने के बाद छह-सात ओवर गेंदबाजी भी कर सके। भारत के लिए 22 टेस्ट मैचों में 76 विकेट ले चुके मिश्रा ने कहा, मुझे लगता है कि भारत में तेज गेंदबाजी करने वाले ऑलराउंडर को शामिल किया जाता तो बेहतर होता। न्यूजीलैंड की टीम में एक तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर है, इसलिए कीवी टीम के पास यही एक फायदा है। लेग स्पिनर ने कहा कि भारत की बल्लेबाजी उसकी गेंदबाजी से ज्यादा मजबूत है। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि भारत का बल्लेबाजी क्रम गेंदबाजी से ज्यादा मजबूत है। ऑलराउंडरों की बात करें तो हम काफी गहरी बल्लेबाजी करते हैं। केवल तीन तेज गेंदबाज बल्लेबाजी नहीं करते हैं। इसलिए मुझे लगता है कि बल्लेबाजी मजबूत है। --आईएएनएस ईजेडए/एएनएम