कोविड -19 से उबरना मैन वर्सेज वाइल्ड के एक एपिसोड का अनुभव करने जैसा है : लक्ष्मीपति बालाजी

कोविड -19 से उबरना मैन वर्सेज वाइल्ड के एक एपिसोड का अनुभव करने जैसा है : लक्ष्मीपति बालाजी
recovering-from-kovid-19-is-like-experiencing-an-episode-of-man-vs-wild-laxmipathy-balaji

चेन्नई,22 मई (हि.स.)। चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के गेंदबाजी कोच लक्ष्मीपति बालाजी ने कहा है कि कोविड -19 से उबरना मैन वर्सेज वाइल्ड के एक एपिसोड का अनुभव करने जैसा है। बालाजी सीएसके दल के उन दो सदस्यों में से एक थे,जो कोरोना से संक्रमित हो गए थे। आखिरकार, अन्य टीमों में भी कोविड-19 मामले सामने आने के बाद आईपीएल 2021 को निलंबित करना पड़ा। बालाजी ने कहा,"कोविड -19 से उबरना, दोनों शारीरिक और मानसिक रूप से, मैन बनाम वाइल्ड के एक एपिसोड का अनुभव करने जैसा है। 2 मई को मुझे थोड़ी बेचैनी महसूस हो रही थी। मुझे शरीर में दर्द और नाक में हल्की रुकावट थी। उसी दिन मध्य दोपहर के आसपास मेरा परीक्षण किया गया था। 3 मई की सुबह तक, मेरी रिपोर्ट सकारात्मक आई। मैं चौंक गया। मैंने अपनी और बाकी बबल की सुरक्षा को खतरे में डालने के लिए मानदंडों का उल्लंघन करने के लिए कुछ भी नहीं किया था।" उन्होंने कहा,"हम मुंबई से 26 अप्रैल के आसपास दिल्ली पहुंचे थे। अगले दिन हमारा परीक्षण किया गया और उसके बाद 28 अप्रैल को एक मैच हुआ। अगले दिन हमारा एक और परीक्षण था। 01 मई को हमने मुंबई इंडियंस के खिलाफ एक और मैच खेला। इसलिए मुझे विश्वास था कि मेरी प्रतिरक्षा प्रणाली काफी मजबूत और कोरोनावायरस के प्रति प्रतिरोधी थी। मेरे साथ, 2 मई के परीक्षण के बाद, कासी विश्वनाथन (सुपर किंग्स के सीईओ) और एक सहायक स्टाफ सदस्य सहित दो अन्य लोगों के रिपोर्ट भी सकारात्मक आये।यह सुनिश्चित करने के लिए कि यह एक गलत रिपोर्ट थी, उसी दिन हमारा फिर से परीक्षण किया गया। मेरी रिपोर्ट दूसरी बार सकारात्मक आई। तुरंत, मुझे टीम होटल की दूसरी मंजिल पर ले जाया गया, जो कि सुपर किंग्स की बाकी टीम से अलग थी।" बालाजी ने यह भी कहा कि एक बार सकारात्मक रिपोर्ट आने बाद वह काफी डरे हुए थे और वह टीम के अन्य सदस्यों को लेकर चिंतित थे। उन्होंने कहा, " मैं डर गया था। शुरू में, मैं अपनी भावनाओं को व्यक्त नहीं कर सका। मुझे पता था कि लोग बाहर मर रहे थे। परिवार और दोस्तों ने संदेश देना शुरू किया तो मुझे इस मुद्दे की गंभीरता को समझने में 24 घंटे लग गए। मुझे चिंता होने लगी। दूसरे दिन अलगाव में, मुझे एहसास हुआ कि मुझे सभी स्वास्थ्य डेटा रिकॉर्ड करते हुए खुद की निगरानी करनी थी। मैं स्पष्ट रूप से चिंतित था।" उन्होंने आगे कहा, '"मैं पॉजिटिव आने से पहले अपनी टीम के जिन लोगों से भी मिला था,उनके बारे में भी अधिक चिंतित था। राजीव कुमार (सीएसके क्षेत्ररक्षण कोच), रॉबिन उथप्पा, चेतेश्वरपुजारा, दीपक चाहर और कासी सर के साथ मैं मिला था। इसलिए मेरी अंतरात्मा इस कठिन सवाल से जूझ रही थी कि क्या होगा अगर इनमें से कोई भी व्यक्ति पॉजिटिव निकलता है ? मैं उनके स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना कर रहा था।" बल्लेबाजी कोच माइकल हसी के संक्रमित होने के बारे में पूछे जाने पर, बालाजी ने कह, " जब मुझे पता चला कि माइकल हसी (सुपर किंग्स के सहायक कोच) भी संक्रमित हो गए हैं, तो उस दिन तक हम नहीं जानते थे कि हम कैसे या कहाँ कोरोनावायरस की चपेट में आये। मार्च के पहले सप्ताह से जब सीएसके का तैयारी शिविर शुरू हुआ,बबल के भीतर हमारे पास एक बहुत ही सख्त प्रोटोकॉल था। 2020 के आईपीएल में अनुभव के बाद जब सीएसके दल के सदस्यों ने सकारात्मक परीक्षण किया, तो फ्रैंचाइज़ी ने यात्रा करते समय भी अधिकतम सावधानी बरती थी।" हिन्दुस्थान समाचार/सुनील