पाकिस्तान के जेवलिन थ्रो खिलाड़ी नदीम ने चोपड़ा को दी बधाई, देशवासियों से मांगी माफी

 पाकिस्तान के जेवलिन थ्रो खिलाड़ी नदीम ने चोपड़ा को दी बधाई, देशवासियों से मांगी माफी
pakistan39s-javelin-thrower-nadeem-congratulates-chopra-apologizes-to-the-countrymen

टोक्यो, 7 अगस्त (आईएएनएस)। ओलंपिक में शनिवार को पुरुषों की भाला फेंक (जेवलिन थ्रो) प्रतियोगिता में पांचवें स्थान पर रहे पाकिस्तान के अरशद नदीम ने भारत के नीरज चोपड़ा को स्वर्ण पदक जीतने पर बधाई दी। नीरज को बधाई देने के साथ ही नदीम ने पदक की उनकी उम्मीदों को पूरा नहीं करने के लिए अपने देशवासियों से माफी भी मांगी। नदीम ओलंपिक में पाकिस्तान के लिए पदक की सबसे बड़ी उम्मीद थे, लेकिन उनका 84.62 का सर्वश्रेष्ठ थ्रो पदक के लिए पर्याप्त नहीं था। चोपड़ा ने 87.58 के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ स्वर्ण पदक जीता। रजत और कांस्य पदक चेक गणराज्य को मिला, जबकि चौथा स्थान जर्मनी को मिला। 23 वर्षीय चोपड़ा को अपना रोल मॉडल मानने वाले 24 वर्षीय नदीम ने ट्वीट किया, नीरज चोपड़ा को टोक्यो ओलंपिक्स में पहला स्थान। जेवलिन थ्रो प्रतियोगिता जीतने के लिए बधाई। प्रतियोगिता से पहले, उन्होंने 2018 एशियाई खेलों के पोडियम पर अपनी और चोपड़ा की एक तस्वीर ट्वीट की थी, जहां भारतीय चोपड़ा ने स्वर्ण और पाकिस्तानी नदीम ने कांस्य जीता था। नदीम ने उर्दू में अलग-अलग ट्वीट कर पाकिस्तानी जनता से माफी मांगी। उन्होंने ट्वीट किया, मजरत, अवाम की उम्मीदों पर पूरा नहीं उतर सका। फिर उन्होंने अपने माता-पिता, जनता को धन्यवाद दिया और संकेत दिया कि टोक्यो ओलंपिक खेलों की तैयारी उतनी अच्छी नहीं थी, जितनी वह चाहते थे। नदीम ने ट्वीट में कहा, मेरे परिवार और पाकिस्तान की अवाम का बहुत शुक्रिया, जिनकी दुआओं से आज इस मुकाम तक पहुंचा। इंशा अल्लाह अगली बार भरपूर तैयारी के साथ ओलंपिक में शिरकत करूंगा। उनके पिता मोहम्मद अशरफ, जो एक राजमिस्त्री के रूप में काम करते हैं, को प्रतियोगिता के लिए प्रशिक्षण और बड़े पाकिस्तानी शहरों की यात्रा का खर्च वहन करना पड़ा है। अशरफ ने अतीत में, अक्सर अपने देश और प्रांत की सरकारों से समर्थन मांगा था, जो उनके अनुसार, इसे प्रदान करने के इच्छुक नहीं थे। --आईएएनएस एकेके/एसजीके

अन्य खबरें

No stories found.