ओलंपिक (महिला मैराथन) : जेपचिरचिर बनीं चैम्पियन, केन्या ने रजत भी जीता (लीड-1)

 ओलंपिक (महिला मैराथन) : जेपचिरचिर बनीं चैम्पियन, केन्या ने रजत भी जीता (लीड-1)
olympics-women39s-marathon-jepchirchir-became-the-champion-kenya-also-won-the-silver-lead-1

टोक्यो, 7 अगस्त (आईएएनएस)। टोक्यो ओलंपिक 2020 में महिलाओं की मैराथन रेस केन्या की पेरेस जेपचिरचिर ने जीत ली है। पेरेस ने 2:27:20 घंटे का सीजन बेस्ट समय लेकर स्वर्ण पदक जीता। केन्या की ही ब्रिगिड कोसगेई दूसरे स्थान पर रहीं। कोसगेई ने 2:27:36 घंटे के समय के साथ फिनिश लाइन को छूकर रजत पदक जीता। वहीं अमेरिका की मोली सिडेल ने शुरूआती दौर से तीसरे स्थान पर रहीं और अंत भी इसी स्थान से किया। गर्मी और आद्रता के बीच पेरेज ने अपनी हमवतन से 16 सेकेंड पहले फिनिश लाइन को छुआ। रेस की सबसे खास बात ये रही कि शीर्ष छह स्थानों पर रहने वाली एथलीटों ने सीजन बेस्ट समय निकाला और एक-दूसरे को कड़ी टक्कर दी। आखिरी के कुछ किलोमीटर में जेपचिरचिर ने अपनी स्पीड बढ़ाई और फिर वह सबसे आगे निकल गईं। कुल 14 एथलीट अपनी रेस पूरी नहीं कर पाए जिसमें गत विश्व चैंपियन केन्या की रूथ चिपगेटिच भी शामिल रहीं। इस स्पर्धा में भारत का कोई प्रतिनिधित्व नहीं था। पेरेस ने स्वर्ण पदक जीतने के बाद कहा, यह अच्छा लगता है। मैं बहुत खुश हूं, क्योंकि हम केन्या पहला और दूसरा स्थान हासिल करने में सफल रहे। मैं अपने भगवान को बहुत धन्यवाद देती हूं। मैं अपने परिवार के लिए खुश हूं। मैं अपने देश, केन्या के लिए खुश हूं। चरम गरमी की स्थिति के कारण, खेलों के आयोजकों ने एक घंटे पहले जापान के समय सुबह 6 बजे दौड़ शुरू की 1984 में लॉस एंजिल्स खेलों में पहली बार शामिल होने के बाद ओलंपिक में महिलाओं की मैराथन का यह 10 वां संस्करण था। केन्या ने इस आयोजन में 10 बार हिस्सा लेते हुए सात मैराथन पदक जीते हैं, लेकिन यह पहला मौका है जब एक ही ओलंपिक मैराथन में देश को पहला और दूसरा स्थान मिला है। --आईएएनएस जेएनएस

अन्य खबरें

No stories found.