मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने का असर डब्ल्यूटीसी पर नहीं पड़ेगा

 मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने का असर डब्ल्यूटीसी पर नहीं पड़ेगा
manchester-test-cancellation-will-not-affect-wtc

मैनचेस्टर, 9 सितम्बर (आईएएनएस)। भारत और इंग्लैंड के बीच शुक्रवार से ओल्ड ट्रेफोर्ड में होने वाला पांचवां और आखिरी मुकाबला अगर भारतीय सहायक स्टाफ के कोरोना पॉजिटिव आने के कारण रद्द किया जाता है तो विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में इस सीरीज को पांच मैचों के बजाए चार मैचों की माना जाएगा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के प्रवक्ता ने कहा, डब्ल्यूटीसी की प्रतिस्पर्धा की शर्तों के तहत, कोविड को गैर-अनुपालन के रूप में पहचाना जाता है। इसका टीम के खेलने में सक्षम होने पर एक महत्वपूर्ण प्रभाव होना चाहिए। उन्होंने कहा, मैच को प्रतियोगिता से बाहर कर दिया जाता है क्योंकि प्रत्येक मैच के लिए अंक दिए जाते हैं और सिस्टम जीते गए अंकों के प्रतिशत पर आधारित होता है। बुधवार को भारत के सहायक फिजियो योगेश परमार कोरोना पॉजिटिव पाए गए जिसके बाद पूरे भारतीय दल का गुरुवार सुबह टेस्ट किया गया जिसके नतीजे का इंतजार है। भारतीय टीम ने मैच के एक दिन पहले अभ्यास सत्र रद्द कर दिया और प्री मैच कांफ्रेंस भी रद्द हो गई। परमार ने हाल ही में रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, रवींद्र जडेजा, मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा जैसे चोटिल खिलाड़ियों का इलाज किया था। भारत मुख्य कोच रवि शास्त्री, गेंदबाजी कोच भरत अरुण और फील्डिंग कोच आर श्रीधर के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद इनके बिना ही चौथे टेस्ट में उतरा था। (सीनियर क्रिकेट लेखक आशीष रे एक ब्रॉडकास्टर हैं और क्रिकेट वल्र्ड कप द इंडियन चेलेंज के लेखक हैं।) --आईएएनएस एसकेबी/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.