कराटे मामला: दिल्ली उच्च न्यायालय ने आईओए प्रमुख बत्रा पर 50,000 रुपये का जुर्माना लगाया

 कराटे मामला: दिल्ली उच्च न्यायालय ने आईओए प्रमुख बत्रा पर 50,000 रुपये का जुर्माना लगाया
karate-case-delhi-high-court-fined-ioa-chief-batra-rs-50000

नई दिल्ली, 28 अप्रैल (आईएएनएस)। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने जिस तरह से कराटे एसोसिएशन ऑफ इंडिया (केएआई) द्वारा दायर एक शिकायत पर स्टे लेने का प्रयास किया है उससे दिल्ली उच्च न्यायालय नाराज है और इसे देखते हुए न्यायालय ने बत्रा को न्यायालय की कानूनी सेवा समिति के साथ लागत के रूप में 50,000 रुपये जमा करने का निर्देश दिया। बत्रा ने केएआई के सचिव अंबेडकर गुप्ता द्वारा दायर याचिका पर स्टे लेने की कोशिश की थी। बत्रा ने अपनी व्यक्तिगत क्षमता का उपयोग करते हुए हाईकोर्ट के एक सेवानिवृत्त मुख्य न्यायाधीश को आईओए के एथिक्स कमीशन के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया। न्यायालय ने बत्रा के नियुक्ति के तरीके पर भी कड़ा विरोध किया। यह मुद्दा पिछले साल जून का है जब बत्रा ने कथित तौर पर गुप्ता और केएआई के अध्यक्ष लिखा तारा के बीच मतभेद के बाद कराटे को भारत के बाहर फेंकने की धमकी दी थी। गुप्ता ने उस समय कहा था कि बत्रा ने उन्हें फोन किया और कराटे को भारत से बाहर फेंकने की धमकी दी। केएआई के महासचिव ने आईओए के नीति आयोग के साथ शिकायत दर्ज की, जिसके खिलाफ बत्रा दिल्ली उच्च न्यायालय गए। हाई कोर्ट ने गुप्ता को ट्रायल कोर्ट में याचिका दायर करने की तारीख 1 जून तय की है। --आईएएनएस जेएनएस