उस युग में गावस्कर का 10000 रन बनाना सोच से परे: इंजमाम-उल-हक
उस युग में गावस्कर का 10000 रन बनाना सोच से परे: इंजमाम-उल-हक
स्पोर्ट्स

उस युग में गावस्कर का 10000 रन बनाना सोच से परे: इंजमाम-उल-हक

news

नई दिल्ली, 17 जुलाई (हि. स.)। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम-उल-हक ने भारतीय दिग्गज सुनील गावस्कर की प्रशंसा करते हुए कहा कि गावस्कर के द्वारा उस समय टेस्ट क्रिकेट में 10000 रन बनाना सोच से परे है। इंजमाम ने कहा कि गावस्कर से पहले कई महान खिलाड़ियों ने खेल पर अपनी पकड़ बना ली थी। उन्होंने कहा कि सर विव रिचर्ड्स और जावेद मियांदाद ने भी गावस्कर के युग में ही क्रिकेट खेला था, लेकिन कोई भी 10000 रनों के आंकड़े को पार नहीं कर सका। इंजमाम ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, "उस समय के साथ - साथ उससे पहले भी कई महान खिलाड़ी थे। जावेद मियांदाद, विव रिचर्ड्स, गैरी सोबर्स और डॉन ब्रैडमैन जैसे बल्लेबाज थे, लेकिन उनमें से किसी ने भी उस आंकड़े तक पहुंचने के बारे में नहीं सोचा। आज के क्रिकेट युग में भी, जब बहुत ज्यादा टेस्ट क्रिकेट है, बहुत कम खिलाड़ी हैं जिन्होंने यह उपलब्धि हासिल की है।" गावस्कर ने 1987 में पाकिस्तान के खिलाफ एक मैच में 10000 रनों का आंकड़ा छू लिया था, और वह ऐसा करने वाले पहले बल्लेबाज बन गए थे। इस पर इंजमाम ने कहा कि अगर गावस्कर इस युग में खेल रहे होते तो उनके रनों की संख्या और ज्यादा होती। उन्होंने कहा, "अगर आप मुझसे पूछें, तो मैं कहूंगा कि सुनील के उस दौर के 10,000 रन आज के 15,000 से 16,000 रन के बराबर हैं। ये इससे ज्यादा भी हो सकते हैं लेकिन किसी भी तरह से कम नहीं।" इंजमाम ने अपने बयान का समर्थन देते हुए कहा कि आज के युग में बल्लेबाजी करना उस युग से आसान हो गया है। उन्होंने कहा, "एक बल्लेबाज के रूप में अगर आपका फॉर्म अच्छा है तो आप एक सीजन में 1000 से 1500 रन भी बना सकते हैं। लेकिन जब सुनील बल्लेबाजी कर रहे थे, तो स्थिति ऐसी नहीं थी। आज विशुद्ध रूप से बल्लेबाजी विकेट तैयार किए जाते हैं ताकि आप रन बना सकें। आईसीसी भी बल्लेबाजों को ऐसा करते देखना चाहता है ताकि दर्शकों का मनोरंजन हो।" गावस्कर 1987 में रिटायर हुए थे, और उस वक़्त उनके नाम 125 टेस्ट मैचों में 51.12 की औसत से 10122 रन थे। उनके 34 शतकों का रिकॉर्ड भी 2005 तक टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक शतकों का रिकॉर्ड था। हिन्दुस्थान समाचार/दीपेश शर्मा-hindusthansamachar.in