athletes-and-staff-to-conduct-weekly-tests-at-sai-and-national-center-of-excellence
athletes-and-staff-to-conduct-weekly-tests-at-sai-and-national-center-of-excellence
स्पोर्ट्स

साई और राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र पर एथलीटों व कर्मचारियों का होगा साप्ताहिक परीक्षण

news

-ओलंपिक प्रशिक्षण में कोई व्यवधान नहीं नई दिल्ली, 07 अप्रैल (हि.स.)। देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने साई परिसरों और राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र (एनसीओई) पर इसके प्रसार को रोकने के लिए मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) का एक नया सेट जारी किया है। इसके तहत सभी एथलीटों, सहायक कर्मचारियों और प्रशासन का साप्ताहिक परीक्षण किया जाएगा। खेल मंत्रालय के निर्देशों के बाद साई प्रशासन ने खिलाड़ियों एंड सहायक स्टाफ का कोरोना परीक्षण साप्ताहिक स्तर पर किए जाने का फैसला लिया है। इस दौरान सख्त मानदंड स्थापित किए जाने का भी प्रावधान किया गया है। बताया गया है कि सभी सावधानियों और मानदंडों को ओलंपिक में संभावित एथलीटों को ध्यान में रखते हुए लागू किया जाएगा, ताकि उनके प्रशिक्षण को नुकसान न हो। सभी नियम विशेष कार्यक्रम और उचित टाइम टेबल के साथ तैयार किया जाएगा ताकि उनके प्रशिक्षण में कोई रुकावट न हो। भारतीय खेल प्राधिकरण के अनुसार, नए एसओपी में कहा गया है कि एथलीट को आगमन से 72 घंटे पहले आरटी-पीसीआर टेस्ट लेना चाहिए और रिपोर्ट नकारात्मक होने पर ही केंद्र में अनुमति दी जानी चाहिए। इसके अलावा, राष्ट्रीय शिविरार्थियों के लिए जो ओलंपिक संभावित हैं, उन्हें कोविद उपयुक्त प्रोटोकॉल के साथ प्रशिक्षण के साथ 7-दिवसीय संगरोध का पालन करना होगा, जो कोच द्वारा पर्यवेक्षण के साथ कंपित समय में आयोजित किया जाएगा। वहीं, राष्ट्रीय कैंपरों के लिए छठे दिन संगरोध और उसके बाद प्रत्येक सप्ताह आरटी-पीसीआर परीक्षण आयोजित किया जाएगा। यदि नकारात्मक परीक्षण किया जाता है, तो उन्हें प्रशिक्षित करने की अनुमति दी जाएगी, और राज्य सरकार के प्रोटोकॉल के अनुसार इलाज किया जाएगा, अगर सकारात्मक परीक्षण किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/आकाश