शिमला में भारी ओलावृष्टि से जनजीवन प्रभावित, 10 जिलों में तुफान व ओलावृष्टि का आरेंज अलर्ट
शिमला में भारी ओलावृष्टि से जनजीवन प्रभावित, 10 जिलों में तुफान व ओलावृष्टि का आरेंज अलर्ट
news

शिमला में भारी ओलावृष्टि से जनजीवन प्रभावित, 10 जिलों में तुफान व ओलावृष्टि का आरेंज अलर्ट

news

शिमला, 03 जून (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में बुधवार को मौसम ने एकाएक करवट ली और शहर में जमकर ओलावृष्टि हुई। जिसके चलते आम जनजीवन खासा प्रभावित हुआ है। अधंड़ के साथ बारिश-ओलावृष्टि से दिन के तापमान में आई गिरावट से ठंडक बढ़ गई। यहां दोपहर के समय बादलो की गड़गड़ाहट के साथ ओलावृष्टि का दौर शुरू हुआ। लगभग एक आधे घंटे तक ओलों की बरसात हुई। इससे यातायात भी बाधित हुआ और शहर की रफतार थम गई। हालांकि बाद में मौसम सामान्य हो गया। शिमला में बारिश व ओलावृष्टि होने से दिसंबर की तरह ठंड महसूस की जा रही है। यहां आज अधिकतम तापमान 22.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पश्चिमी विक्षोभ के कारण राज्य के अनेक हिस्सों में पिछले कुछ दिनों से जमकर बादल बरस रहे हैं। बाद दोपहर हमीरपुर, बिलासपुर, कांगड़ा और मंडी जिलों के कुछ क्षेत्रों में गरज के साथ बादल बरसे। इससे मौसम सुहावना बना हुआ है और लोगों को भीषण गर्मी से निजात मिल रही है। मौसम विभाग ने राज्य के अनेक क्षेत्रों में अगले तीन दिन तुफान के साथ भारी ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की है। 10 जिलों (हमीरपुर, बिलासपुर, सोलन, शिमला, कांगड़ा, चंबा, कुल्लू, उना, मंडी और सिरमौर) में 5 व 6 जून को भारी ओलावृष्टि का आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इस दौरान आसमानी बिजली कड़कने तथा 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफतार से तुफान चलने की आशंका के चलते लोगों को सावधानी बरतने की हिदायत दी गई है। बीते 24 घंटों के दौरान अघ्घर में 37, नाहन में 27, मंडी में 26, राजगढ़ में 18, बलद्वज्ञरा में 16, कसौली में 15, धर्मपुर व पंडोह में 13, कुफरी में 11 और काहू में 10 मिमी बारिश रिकाॅर्ड की गई। ऊना सबसे गर्म स्थल रहा, जहां अधिकतम तापमान 35.6 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया। कांगड़ा में तापमान 32.5, सुंदरनगर में 31.6, नाहन में 31, बिलासपुर में 29.5, हमीरपुर में 29.2, सोलन में 28.4, धर्मशाला में 26.8 और शिमला में 22.6 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड हुआ। मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि बारिश व ओलावृष्टि का सिलसिला सात जून तक जारी रहने का अनुमान है। मध्यपर्वतीय क्षेत्रों में अगले 24 घंटों में भी गरज के साथ बारिश व ओलावृष्टि होगी। 5 व 6 जून को मैदानी व मध्यपर्वतीय इलाकों के 10 जिलों में ओलावृष्टि व तुफान का आरेंज अलर्ट रहेगा। इस दौरान 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफतार से तुफान आने की आशंका है। 8 जून को मौसम के साफ रहने का अनुमान है, लेकिन 9 जून को फिर मौसम के तेवर बिगड़ जाएंगे। हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल/सुनील-hindusthansamachar.in