कोरोना के संदिग्ध दो मरीज की जांच कर सेंपल को एमजीएम अस्पताल भेजा Hindi Latest News 

बड़ी खबरें

कोरोना के संदिग्ध दो मरीज की जांच कर सेंपल को एमजीएम अस्पताल भेजा

कोरोना के संदिग्ध दो मरीज की जांच कर सेंपल को एमजीएम अस्पताल भेजा

कोरोना के संदिग्ध दो मरीज की जांच कर सेंपल को एमजीएम अस्पताल भेजा मेदिनीनगर, 22 मार्च (हि.स.)। हुसैनाबाद नगर पंचायत के वार्ड-1 के गणेशपूरी मुहल्ला स्थित अकली भुंईया के घर पर दो दिन से कोरोना के अफवाह से भागे फिर रहे पति प्रमोद भुंईया व पत्नी सविता देवी को रविवार की सुबह हुसैनाबाद के अनुमंडल पदाधिकारी कुंदन कुमार, अनुमंडलीय उपाधीछक

डॉ एसके रवि, हुसैनाबाद थाना प्रभारी राजदेव प्रसाद दल-बल पहुंचकर उसे पकड़कर हुसैनबाद अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचाया। इस संबंध में हुसैनाबाद के एसडीओ ने बताया कि सुबह सूचना मिली की हैदरनगर देवी धाम से भागे दोनों पति पत्नी अंधविश्वास के चक्कर में पड़े है। उन्होंने कहा कि होली के पूर्व प्रमोद भुंईया गोवा से मजदूरी कर लौटा था। लौटने के बाद उसके पिता व एक बहन की मौत भूत के चक्कर में हो गई थी। उन्होंने कहा कि परिजनों से वार्ता के दौरान यह पता चला कि परिजन भूत के चक्कर में है। सविता व प्रमोद ने एसडीओ के समक्ष कहा कि किसी ओझा द्वारा 12 टुकड़ी भूत किया गया है। जिससे हम सभी परिवार बरबाद हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसी की चक्कर में प्रमोद व सविता भवनाथपुर किसी ओझा के यहां देखाने गये थे। देर रात किसी ट्रेन से लोटने के बाद वह अपने ससुराल अकली भुंईया के घर पर हैं। एसडीओ ने बताया कि हैदरनगर में धाम पर जाने की अफवाह जोरों पर था किंतु से दोंनो हैदरनगर देवी धाम न जाकर गढ़वा जिला के भवनाथपुर चले गयें थे। उन्होंने बताया कि प्रमोद व सविता को सुबह अस्पताल में लाकर उन्हें नये वस्त्र देकर पुराने वस्त्र को पूरी तरह जला दिया गया। उन्हें सेनिटाईज भी कराया गया। इसकी सूचना हुसैनाबाद के अनुमंडलीय उपाधिक्षक डॉ एसके रवि द्वारा पलामू के सीवील सर्जन जोनेफ केनैडी को दी। जिला से पहुंचे सीएस के नेतृत्व में टीम में डॉ एमपी सिंह, डीपीएम दीपक कुमार, डाटा मैनेजर शशिकांत, लैब टेकनेशियन माजिद अहमद, प्रिंस कुमार, डॉ एसके रवि व हुसैनाबाद के लैब टेकनेशियन समीम ने प्रमोद भुंईया व उसकी पत्नी सविता देवी के साथ एक बच्चे का भी सेंपल लेकर अस्पताल के ऐंबुलेंस से जमशेदपुर स्थित एमजीएम अस्पताल जांच के लिये भेजा गया। इस संबंध में सीएस श ने बताया की मरीज से अधिक लोगों द्वारा सोशल मीडिया पर अफवाह फैलायी जा रही है। यह दोनों मरीज किसी भी सुरत में कोरोना वायरस से ग्रसित नहीं दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि जांच रिपोर्ट आने तक दोनोंं मरीजों को हुसैनाबाद अनुमंडलीय अस्पताल के एक रुम में ही रखा जायेगा। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर फैले अफवाह के कारण मेडिकल टीम भी काफी परेशान हो रही है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय
... क्लिक »

hindusthansamachar.in

अन्य सम्बन्धित समाचार