जख्मी-थी-आंख-सीने-में-लगी-गोली-फिर-भी-अंग्रेजों-से-लड़ती-रहीं-लक्ष्मीबाई |Rani Laxmi Manikarnika Movie Kangana Ranaut Jhansi आंख लगी गोली अंग्रेज लक्ष्मीबाई Hindi Latest News 


बड़ी खबरें

जख्मी थी आंख, सीने में लगी थी गोली... फिर भी अंग्रेजों से लड़ती रहीं लक्ष्मीबाई

जख्मी थी आंख, सीने में लगी थी गोली... फिर भी अंग्रेजों से लड़ती रहीं लक्ष्मीबाई

 - 'झांसी क्रांति की काशी' के लेखक और इतिहासकार ओम शंकर 'असर' बताते हैं "21 मार्च को जनरल ह्यूरोज के झांसी आने के बाद 1858 में रानी लक्ष्मीबाई का अंग्रेजों से युद्ध हुआ था। 3 अप्रैल को रानी अपने सेवकों परिजनों और सैनिकों के साथ किला छोड़ कालपी की ओर रवाना हुई थीं और 3 जून को ग्वालियर पहुंची थीं।" - "12 जून को पता चला कि अंग्रेजी फौज सिंध नदी के पास पहुंच गई है। क्रांतिकारी फौज ने 16 जून को तोपों से कंपनी फौज पर हमला कर दिया। भयंकर गर्मी और तोपों की मार के कारण कंपनी सेना पहाड़ियों की तरफ बढ़ गईं।" - "17 जून को कंपनी सेना ने पहाड़ियों से आक्रमण किया। रानी युद्ध के दौरान फूलबाग (ग्वालियर) में
www.bhaskar.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

अन्य सम्बन्धित समाचार



www.bhaskar.com से अधिक समाचार