रायपुर : बस्तर में वनोपजों के वेल्यूएडिशन में रोजगार की भरपूर संभावना : भूपेश बघेल

रायपुर : बस्तर में वनोपजों के वेल्यूएडिशन में रोजगार की भरपूर संभावना : भूपेश बघेल
raipur-there-is-a-lot-of-employment-potential-in-the-valuation-of-forest-produce-in-bastar-bhupesh-baghel

दंतेवाड़ा औद्योगिक क्षेत्र का नामकरण स्वर्गीय महेन्द्र कर्मा के नाम पर करने की घोषणा रायपुर, 20 जून (हि. स.)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि बस्तर में बहुमूल्य वनोपजों के वेल्यूएडिशन से रोजगार की भरपूर संभावना है। बस्तर की वनोपजों में वेल्यूएडिशन किया जाए, तो रोजगार के लिए बस्तर के युवाओं को बाहर जाने की आवश्यकता नहीं है। वनोपजों के वेल्यूएडिशन और उनके व्यापार के जरिए न सिर्फ बस्तर के युवाओं को ही बल्कि अन्य क्षेत्रों के लोगों को भी रोजगार और आय के बेहतर साधन उपलब्ध कराए जा सकते हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रविवार को अपने निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम में कोण्डागांव और दंतेवाडा जिले में 544 करोड़ 86 लाख रुपये के 788 विकास कार्याें का लोकार्पण और भूमिपूजन के बाद समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री बघेल ने कोण्डागांव मे चार करोड 72 लाख की लागत से बनने वाली कोण्डानार स्पोर्ट अकादमी सहित कोण्डानार गारमेंट फैक्ट्री और केशकाल के समीप टाटामारी रिसॉर्ट का भूमिपूजन किया। उन्होंने कोण्डागांव जिले में एरोमेटिक कोण्डानार अभियान का शुभारंभ करने के बाद एरोमेटिक पौधों का रोपण करने वाले हितग्राहियों से चर्चा की। नरियर महाभियान के अंतर्गत इस मौके पर 10 हजार पौधों के वितरण और रोपण कार्य का शुभारंभ किया। इस मौके पर ट्रांसफॉर्मिंग रूरल फाउंडेशन और कोण्डागांव जिला प्रशासन के बीच तथा एसेंशियल ऑयल उद्योग स्थापित करने के लिए सन फ्लेग एग्रो प्रायवेट लिमिटेड तथा जिला प्रशासन कोण्डागांव के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। मुख्यमंत्री बघेल ने उड़ान परियोजना के अंतर्गत महिला स्व-सहायता समूहों द्वारा तैयार किए गए उत्पादों तिखुर शेक, इमली चटनी एवं इमली कंन्सट्रेट तथा सात प्रकार के अचार उत्पादों तथा मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की मॉनिटरिंग के लिए तैयार मोबाइल एप नंगत पिला लॉन्च किया। उन्होंने नवा दंतेवाड़ा गारमेंट फैक्ट्री और डेनेक्स अमचुर के वाहन को वर्चुअल रूप से झण्डी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री बघेल ने दंतेवाड़ा जिले में लघु वनोपज, उद्यानिकी वानिकी और खनिज संसाधनों के प्रसंस्करण हेतु 500 एकड़ भूमि में विकसित किए जाने वाले औद्योगिक क्षेत्र स्वर्गीय महेन्द्र कर्मा के नाम पर करने की घोषणा की। उन्होंने बारसुर में एक करोड़ आठ लाख रुपये की लागत से निर्मित नवा दंतेवाड़ा गारमेन्ट फैक्ट्री की दूसरी यूनिट का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने नवा दंतेवाड़ा गारमेंट फैक्ट्री हारम में उत्पादित लगभग 1 करोड़ 20 लाख रुपये के रेडीमेट कपड़े को बेंगलोर रवाना किया। इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री और कोण्डागांव जिले के प्रभारी मंत्री गुरु रूद्रकुमार, राजस्व मंत्री और दंतेवाड़ा जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, सांसद दीपक बैज, विधायक मोहन मरकाम, देवती कर्मा, संत कुमार नेताम और चन्दन कश्यप ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश में हो रहे विकास कार्याें की सराहना की। हिन्दुस्थान समाचार/गायत्री प्रसाद

अन्य खबरें

No stories found.