रायपुर : प्रदेश भाजपा को आधार मजबूत करने की जरूरत : श‍िव प्रकाश

रायपुर : प्रदेश भाजपा को आधार मजबूत करने की जरूरत : श‍िव प्रकाश
raipur-state-bjp-needs-to-strengthen-its-base-shiv-prakash

रायपुर, 20 जून (हि.स.)। छत्तीसगढ़ भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक रविवार को राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री शिव प्रकाश की अध्यक्षता में हुई। इस दौरान शिवप्रकाश ने कहा कि राज्य में तीन बार भाजपा ने दूसरों के सहारे सरकार बनाया, लेकिन ऐसी परिस्थितियां हमेशा नहीं रहती, लिहाजा अपनी ताकत को बढ़ाने की जरूरत है। अपना आधार मजबूत किए जाने की जरूरत है। कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री शिवप्रकाश ने कहा कि भाजपा पदाधिकारी और कार्यकर्ता अपने-अपने मोर्चे पर डटकर काम करें और राजनीतिक तौर पर संगठन को ताकतवर बनाकर चुनाव अकेले के दम पर ही जीतें। इसके लिए बूथ लेवल तक संगठन को मजबूत करना होगा। जमीन पर जाकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि देशभर में भाजपा के पास 37 फीसदी वोट हैं, जबकि 62 फीसदी वोट अब भी भाजपा के खिलाफ है। यह वोट विरोधियों के पास है। 2014 के बाद से विपक्ष सकारात्मक भूमिका निभाने के बजाय षडयंत्रों में लगा है। विपक्षी गठबंधन में कोई वैचारिक समानता नहीं होने के बावजूद केंद्र की मोदी सरकार को बदनाम किए जाने का काम किया जा रहा है। शिवप्रकाश ने कहा कि देश के एक बड़े हिस्से में भाजपा की सरकारें काम कर रही हैं, लेकिन विपक्ष ने भाजपा को मन से स्वीकार नहीं किया है। भारत में पहली बार ब्रिटिश प्रभाव से मुक्त और भारतीय आकांक्षाओं को साकार करने वाली सरकार सत्ता में आई है। यह केंद्र सरकार सत्ता में आने के बाद से ग़रीबों के कल्याण, देश की आंतरिक व बाह्य सुरक्षा के उपायों और विश्व मंच पर भारत की धाक बढ़ाने और भारतीय चिंतन को विश्व में स्थापित करने का कार्य किया है। उन्होंने हाल ही में हुए एक सर्वे में प्रधानमंत्री मोदी के 66 प्रतिशत के साथ विश्व में सर्वाधिक लोकप्रिय प्रधानमंत्री घोषित किए जाने की चर्चा करते हुए शिवप्रकाश ने कहा कि भारतीय जनमानस ने मोदी में भारत की सर्वतोमुखी उन्नति का विश्वास अनुभव करके भाजपा को दोबारा पहले की तुलना में ज़्यादा सीटों के साथ सत्ता सौंपी है। राजनीति में पूरी ईमानदारी के साथ काम किया जा सकता है, चुनाव जीतकर सरकार चलाई जा सकती है, भाजपा ने इसे धरातल पर साकार करके दिखाया है। विकास को मूलमंत्र बनाकर जाति-धर्म का भेद किए बिना भी काम करके भाजपा ने दिखाया है। विपक्ष में रहकर भी उच्च मानकों के साथ अच्छी व सकारात्मक भूमिका निभाई थी। आर्थिक नीति के मुद्दे पर निर्णय लेते समय तत्कालीन नेता प्रतिपक्ष अटलबिहारी वाजपेयी और तत्कालीन प्रधानमंत्री पीवी नरसिंहराव की चर्चा करके और संयुक्त राष्ट्र सभा में भारत का पक्ष रखकर पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए अटलजी को भारतीय दल का नेतृत्व सौंपकर तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिंहराव ने जो आदर्श प्रस्तुत किया था, पं. दीनदयाल उपाध्याय ने विदेश में तत्कालीन प्रधानमंत्री पं. नेहरू को लेकर किए गए सवालों के ज़वाब में जिस प्रकार भारतीय प्रधानमंत्री की मुख़ालफ़त से इंकार किया था, दुर्भाग्य से सन 2014 के बाद से विपक्ष अपनी ऐसी सकारात्मक भूमिका निभाने के बजाय नाना प्रकार के षड्यंत्रों में लगा है। विपक्षी दलों के गठबंधन में कोई वैचारिक साम्य नहीं होने के बावज़ूद वह देश के भीतर और बाहर भारत सरकार को बदनाम करने में लगा है। बैठक में भाजपा ने आगामी तीन महीनों की रणनीति के साथ-साथ संगठन के कार्यक्रम भी तय किए हैं। संगठन महामंत्री पवन साय ने कहा कि 21 जून को संगठन स्तर पर प्रदेशभर में योग दिवस का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। मंडल स्तर तक योग दिवस पर कार्यक्रम होंगे। 23 जून को भाजपा के संस्थापक डाॅ.श्यामाप्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर वृक्षारोपण व संगोष्ठी के कार्यक्रम होंगे। प्रदेशभर में बड़े नेता बतौर वक्ता शामिल होंगे। 25 जून को आपातकाल की बरसी पर लोकतंत्र और मौलिक स्वतंत्रता की रक्षा में पार्टी के योगदान पर केंद्रीत कार्यक्रम रखा जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/चंद्रनारायण शुक्ल

अन्य खबरें

No stories found.