रायपुर: अब सीसीटीवी कैमरों से सभी कोविड केयर सेंटरों की निगरानी

रायपुर: अब सीसीटीवी कैमरों से सभी कोविड केयर सेंटरों की निगरानी
raipur-now-monitoring-all-covid-care-centers-with-cctv-cameras

सेंट्रल मॉनिटरिंग सिस्टम बनाया गया रायपुर, 26 अप्रैल (हि.स.)। राजधानी में अभी एम्स और मेडिकल कॉलेज के साथ 14 शासकीय कोविड सेंटरों में कोरोना मरीजों के इलाज की सभी जानकारी अफसरों को अब सीसीटीवी कैमरों से हो रही है। सभी कोविड केयर सेंटरों की निगरानी एक ही जगह की जा रही है। इसके लिए मल्टीलेवल पार्किंग के ऊपरी भवन में सेंट्रल निगरानी रूम भी बनाया गया है।कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने बताया कि सभी कोविड केयर सेंटरों में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए हैं। इसके लिए एक सेंट्रल मॉनिटरिंग सिस्टम बनाया गया है। रायपुर के 14 कोविड केयर सेंटरों 2106 बिस्तरों में मरीजों का इलाज हो रहा है। इसमें 54 आईसीयू, 1193 ऑक्सीजन वाले बेड और सामान्य बिस्तर 859 है। कलेक्टर समेत आला अफसर हर दिन सेंट्रल मॉनिटरिंग सिस्टम से कोविड केयर सेंटरों की जांच कर रहे हैं।कोरोना मरीजों के इलाज के दौरान किसी भी तरह की शिकायत अब एक विशेष नंबर 86002 70023 पर की जा सकती है। अस्पतालों के खिलाफ शिकायतें दर्ज कराने के लिए कंट्रोल रूम में एक नया नंबर जोड़ा गया है। अस्पतालों में इलाज के दौरान किस तरह की ज्यादा रकम लेने, बिना रुपयों के डेड बॉडी नहीं देने, एंबुलेंस या किसी भी तरह की सुविधाओं के लिए ज्यादा रकम ली जा रही है तो वे जिला कंट्रोल रूम में के इस नंबर पर शिकायतें दर्ज करवा सकते हैं। प्रशासन का दावा है कि होम आइसोलेशन में रहकर इलाज कराने वाले 90 फीसदी लोग ठीक हो गए हैं। डॉ. अंजलि शर्मा ने बताया कि होम आइसोलेशन कंट्रोल रूम के पास 24 घंटे सातों दिन एंबुलेंस की व्यवस्था रहती है। जरूरत पड़ने पर मरीज को डेडीकेटेड हॉस्पिटल में भेजने के लिए एक सिस्टम बनाया गया है। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार का पैनिक न करें, कई जगह फोन करने की जरूरत नहीं है। सीधे उस डॉक्टर को बताएं जो मरीज का इलाज कर रहा है। एक निश्चित अंतराल में होम आइसोलेशन के मरीजों को अस्पतालों में शिफ्ट कर दिया जाता है। घर में इलाज करवा रहे मरीजों का जब तक ऑक्सीजन और टेंपरेचर मेंटेंड है, तब तक चिंता करने की कोई बात नहीं है। हिन्दुस्थान समाचार /केशव शर्मा