रायपुर : घरेलू व व्यावसायिक विद्युत उपभोक्ताओं का एक माह का बिजली बिल माफ करे सरकार : कोमल हुपेंडी

रायपुर : घरेलू व व्यावसायिक विद्युत उपभोक्ताओं का एक माह का बिजली बिल माफ करे सरकार : कोमल हुपेंडी
raipur-government-to-waive-one-month-electricity-bill-of-domestic-and-commercial-electricity-consumers-komal-hoopendi

रायपुर, 29 अप्रैल (हि.स.)। आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने गुरुवार को प्रेस विज्ञप्ति जारी कर प्रदेश सरकार से मांग की है कि घरेलू एवँ व्यावसायिक उपभोक्ताओं के लॉक डाउन के दौरान का बिजली बिल माफ कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि गत वर्ष के लॉक डाउन अवधि के बिजली बिल का भुगतान घरेलू एवं व्यावसायिक दोनों उपभोक्ताओं ने कर दिया था, जबकि आम जनता की आमदनी पर भारी असर पड़ा था और व्यावसायिक गतिविधियां भी ठप्प थीं। अब पुनः लॉक डाउन से उपभोक्ताओं की आर्थिक स्थिति पहले से भी ज्यादा चरमरा गई है। प्रदेश में हजारों की संख्या में ऐसे घरेलू उपभोक्ता हैं जिनके भवन का नवनिर्माण हुआ है और उनके स्थाई कनेक्शन के आवेदन विगत छह माह से लंबित हैं और उन्हें अस्थाई कनेक्शन का डेढ़ से दो गुना बिजली बिल पटाना पड़ रहा है। हुपेंडी ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत मण्डल को तोड़कर चार कम्पनियों में विभाजित करने के पीछे सरकार का तर्क था कि छोटी छोटी कम्पनियों में विभाजित करने से विद्युत के उत्पादन से लेकर वितरण के काम आसान हो जाएंगे और कम्पनियां घाटे की बजाय लाभ कमाना शुरू कर देंगी। छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत उत्पादन का एक हब है अन्य राज्यों को भी छत्तीसगढ़ सरकार बिजली बेचकर मुनाफा कमाती है जबकि विद्युत उत्पादन हेतु प्रदेश के किसान विस्थापित होते हैं, कोयला, पानी भी हमारा इस्तेमाल होता है और बेरोजगारी प्रदूषण की मार भी क्षेत्र की जनता भोगती है। उन्होंने मुख्यमंत्री से निवेदन किया है कि बिजली कंपनियों द्वारा अर्जित लाभ का एक छोटा सा हिस्सा उपभोक्ताओं के हित में भी खर्च करें। हिन्दुस्थान समाचार/चंद्रनारायण शुक्ल