raipur-bjp-leaders-sold-paddy-in-the-mandis-of-the-state-the-movement39s-gimmick-going-to-save-jobs-congress
raipur-bjp-leaders-sold-paddy-in-the-mandis-of-the-state-the-movement39s-gimmick-going-to-save-jobs-congress
news

रायपुर : भाजपा नेताओं ने प्रदेश की मंड‍ियों में बेचा धान, नौकरी बचाने करने जा रहे आंदोलन की नौटंकी : कांग्रेस

news

रायपुर, 21 जनवरी (हि.स.)। किसानों के साथ धोखाधड़ी करते रहना भाजपा का चरित्र है। सरकार की धान खरीदी व्यवस्था का विरोध कर भाजपा अपनी करनी पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है। खुद भाजपा के 575 नेताओं ने मंडियों में जाकर धान बेचा है। इससे साबित हो जाता है कि भूपेश बघेल सरकार की धान खरीद व्यवस्था पर उनकी पूरी आस्था है। अमित शाह एवं दुग्गाबती पुरंदेश्वरी जैसे नेताओं के सामने अपनी नौकरी बचाने यहां के भाजपा नेता 22 जुलाई को आंदोलन की नौटंकी करने जा रहे हैं। राजीव भवन में गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए गिरीश देवांगन ने कहा कि 17 दिसंबर 2018 जब से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आई है, 2500 रुपये में धान की खरीद हो रही है। कांग्रेस की सरकार आने के बाद किसान जिस तरह मजबूत हुआ उसे भाजपा पचा नहीं पा रही है। साढ़े 21 लाख किसानों का पंजीयन हुआ है, जो दर्शाता है कि प्रदेश सरकार किसानों को लेकर कितनी गंभीर है। अब तक 83.16 लाख मिट्रिक टन धान की खरीदी हो चुकी है, जो अपने आप में रिकॉर्ड है। भाजपा का यह आरोप असत्य है कि बारदानों की कमी है और सोसायटियां बंद हो रही हैं। सच्चाई यह है कि सोसायटियों की संख्या बढ़ी है। खुद मेरे खरोरा क्षेत्र में बारदानों की पर्याप्त व्यवस्था है। देवांगन ने कहा कि भाजपा के लोग 22 जनवरी को आंदोलन करने के बजाय आत्मचिंतन करते हुए प्रायश्चित करें। प्रदेश सरकार की किसान नीति पर उंगली उठाने से पहले भाजपा नेता कई बार तरह सोच लें। मैं अपनी ओर से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को 5 क्विंटल धान देता हूं। वे कोई भी दूसरे प्रदेश में 2500 रुपये क्विंटल में बेचकर बता दें। भाजपा के लोग अमित शाह एवं नई प्रभारी पुरंदेश्वरी के डंडे से बचने के लिए आंदोलन का सहारा ले रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/चंद्रनारायण शुक्ल-hindusthansamachar.in