रायपुर- जल जीवन मिशन के कार्यों में आ रही तेजी

रायपुर- जल जीवन मिशन के कार्यों में आ रही तेजी
raipur---water-life-mission-works-fast

मिशन संचालक ने स्थल निरीक्षण कर किया प्रगतिरत कार्यों की समीक्षा रायपुर, 22 मई (हि.स.)। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरु रुद्रकुमार के निर्देशन में जल जीवन मिशन के कार्यों में तेजी आ रही है। मंत्री गुरु रुद्रकुमार ने जल जीवन मिशन के कार्यों को समय सीमा में पूर्ण करने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। इसी कड़ी में संचालक, जल जीवन मिशन एस. प्रकाश ने विगत दिनों राजनांदगांव जिले में प्रस्तावित पिपरखार समूह जल प्रदाय योजना एवं चिल्हाटी समूह जल प्रदाय योजना के एनीकट स्थल का निरीक्षण किया। प्रस्तावित पिपरखार समूह जल प्रदाय योजना के अंतर्गत 28 ग्रामों एवं चिल्हाटी समूह जल प्रदाय योजना के अंतर्गत 56 ग्रामों को पेयजल प्रदाय किया जायेगा। मिशन संचालक ने स्थल निरीक्षण के पश्चात सिलसिलेवार उपखण्ड स्तरीय विकासखण्ड अंबागढ़-चौकी एवं राजनांदगांव के जिला स्तरीय लैब का भी निरीक्षण किया गया। लैब में उपस्थित केमिस्ट एवं स्टॉफ से वहां की जाने वाली दैनिक जल नमूना परीक्षण संबंधी कार्यों की जानकारी ली और आवश्यक दिशा निर्देश दिये। एस. प्रकाश ने राजनांदगांव जिले के ग्राम मगरलोटा में जल जीवन मिशन के अंतर्गत प्रगतिरत एच.एफ.टी.सी. कनेक्शन का स्थल निरीक्षण किया और लाभांवित परिवारों के सदस्यों एवं सरपंच, सचिव से प्रगतिरत कार्यों की विस्तृत जानकारी ली। इसके उपरांत श्री प्रकाश ने दुर्ग जिले के सर्किट हाऊस में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और क्रेडा के अधिकारियों की जल जीवन मिशन के कार्यों की समीक्षा की। इस अवसर पर मिशन संचालक ने अधीक्षण अभियंता को सोलर पंप स्थापित कर पेयजल प्रदाय योजना पर अधिकारियों को कार्यों की प्राथमिकता निर्धारित करते हुए कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिए। दुर्ग, बेमेतरा, राजनांदगांव, बालोद और कवर्धा जिलों के कार्यपालन अभियंताओं से जल जीवन मिशन के कार्यों में रेट्रोफिटिंग, एकल ग्राम योजना, समूह ग्राम योजना, टी.पी.आई.एस., आई.एस.ए. की तकनीकी स्वीकृति, प्रशासकीय स्वीकृति, निविदाओं एवं जारी कार्यादेश आदि की समीक्षा की गई। बैठक में प्रमुख अभियंता टी.जी. कोसरिया, मुख्य अभियंता और अतिरिक्त मिशन संचालक ए.के. साहू, अधीक्षण अभियंता सहित कार्यपालन अभियंता उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/ गायत्री प्रसाद

अन्य खबरें

No stories found.