रायपुर - लक्ष्य पूरे नहीं होने पर अब मिलर्स होंगे ब्लैक लिस्टेड

रायपुर - लक्ष्य पूरे नहीं होने पर अब मिलर्स होंगे ब्लैक लिस्टेड
raipur---millers-will-now-be-blacklisted-if-targets-are-not-met

रायपुर, 22 मई (हि.स.)। रायपुर जिले में समर्थन मूल्य पर धान उठाव की धीमी गति से नाराज़ कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ एस भारतीदासन ने कुछ दिन पूर्व जिले के 100 अरवा औऱ 14 उसना मिलर्स को नोटिस जारी किया था। जिसके जवाब देने की अवधि सोमवार 25 मई 2021 को खत्म हो रही है। खाद्य विभाग से प्राप्त सूचना के अनुसार राइसमिलर्स के द्वारा जवाब प्रस्तुत किया जा रहा है। इसके आधार पर समीक्षा किये जाने के बाद ऐसे राइसमिलर्स को ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाएगा। जिन्होंने 2019 -20 और 2020-21 का अरवा और उसना धान उठाव का निर्धारित लक्ष्य पूरा नही किया है। जिला खाद्य नियंत्रक ने बताया कि ऐसे सभी अरवा और उसना राइस मिलर्स जिन्होंने शासन द्वारा निर्धारित लक्ष्य के अनुसार उठाव नही किया गया है। उन सभी को कलेक्टर ने नोटिस जारी कर 3 दिन के भीतर जवाब प्रस्तुत करने का नोटिस दिया था । छत्तीसगढ़ कस्टम मिलिंग चाँवल उपार्जन आदेश 2016 के अनुसार मिलर्स अपनी मिलिंग क्षमता का 50 प्रतिशत का उपयोग सरकार के कस्टम मिलिंग के लिए करेगा। इसके अलावा अपने मिल परिसर में धान, चाँवल के मिलिंग संबंधी दस्तावेज़ रखेगा ,विभाग के मॉड्यूल में नियमित एंट्री करेगा , हर महीने मासिक जानकारी भेजेगा। राइस मिल का रखरखाव ऐसा रखेगा जिससे मिलिंग नियमित हो। खाद विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राइसमिलर्स द्वारा कारण बताओ नोटिस का जवाब प्रस्तुत किया जा रहा है यदि उनके द्वारा शासन का निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप उठाव नही किया गया तो कलेक्टर, रायपुर द्वारा राइसमिलर्स को ब्लैकलिस्ट करने की कार्यवाही की जावेगी, जो राइसमिल ब्लेक लिस्टेड होगा उसके द्वारा किसी भी प्रकार भी मिलिंग कार्य नही किया जा सकेगा। हिन्दुस्थान समाचार/ गायत्री प्रसाद