पूर्व राष्ट्रपति जरदारी और अन्य आरोपित 7 जुलाई को जवाबदेही अदालत में होंगे पेश, सुनाया जाएगा फैसला
पूर्व राष्ट्रपति जरदारी और अन्य आरोपित 7 जुलाई को जवाबदेही अदालत में होंगे पेश, सुनाया जाएगा फैसला
news

पूर्व राष्ट्रपति जरदारी और अन्य आरोपित 7 जुलाई को जवाबदेही अदालत में होंगे पेश, सुनाया जाएगा फैसला

news

नई दिल्ली, 23 जून (हि.स.)। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी और अन्य आरोपितों को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 7 जुलाई को एकाउंटेबिलिटी कोर्ट में पेश कर फैसला सुनाया जाएगा। एकाउंटेबिलिटी कोर्ट के जज मोहम्मद आजम खान ने मंगलवार को कहा कि जो आरोपित पहले से ही जेल में बंद हैं, वो सुनवाई में वीडियो के जरिए शामिल होंगे और अन्य को कोर्ट में वैयक्तिक रूप से मौजूद रहना होगा। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी को पिछले साल मनी लॉन्ड्रिंग और पार्क लेन भूमि घोटाले में जांच के लिए गिरफ्तार किया गया था और बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया था। हालांकि जरदारी ने उन पर लगे सभी आरोपों की खंडन किया और कहा कि यह राजनीति से प्रेरित हैं। जरदारी के अलावा आरोपित ख्वाजा अनवर मजीद न्यायिक हिरासत में कराची के जिला जेल में बंद है जबकि हुसैन लावाई, ताहा रजा और मोहम्मद उमैर रावलपिंडी की अडियाला जेल में न्यायिक हिरासत में हैं। उल्लेखनीय है कि 6 जून, 2018 को फेडरल इंवेस्टिगेशन एजेंसी ने एक एफआईआर दर्ज की थी। इसमें जरदारी पर आरोप लगाए गए थे कि उन्होंने अवैध रूप से फर्जी खातों के जरिए सरकारी धन की निकासी कर घपला किया है। पार्क लेन भूमि घोटाले मामले में एकाउंटेबिलिटी कोर्ट ने जरदारी और अन्य आरोपितों को 26 जून को पेश होने के लिए कहा है। उन पर आरोप है कि उन्होंने अवैध तरीके से कंपनियों को लोन उपलब्ध कराया है। हिन्दुस्थान समाचार/सुप्रभा सक्सेना-hindusthansamachar.in