लॉकडाउन के दौरान पुलिस का बिजली कर्मचारी के साथ दुर्व्यवहार, विरोध में बिजली की कट

लॉकडाउन के दौरान पुलिस का बिजली कर्मचारी के साथ दुर्व्यवहार, विरोध में बिजली की कट
police-misbehaved-with-power-worker-during-lockdown-power-cut-in-protest

नलगोंडा (तेलंगाना), 22 मई (हि.स.)। कोरोना संक्रमण की रोकधाम के लिए पूरे तेलंगाना में लॉकडाउन चल रहा है। व्यापारिक प्रतिष्ठान, सब्जी एवं घरेलू सामान की खरीददारी और जरूरी गतिविधियां केवल सुबह 6 से 10 बजे तक की अनुमति है। इस बीच शनिवार को नालगोंडा शहर में सुबह 10 बजे के बाद बेवजह सड़कों पर घूमने वालों पर पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए लाठियां बरसाई। पुलिस ने सड़कों पर आने वाले वाहनों को जब्त कर लिया। यहां तक की सरकारी कर्मचारी और राज्य बिजली कर्मचारी को भी पीठा गया। पुलिस की इस कार्रवाई के विरोध में बिजली कर्मचारी सड़क पर उतर आए और शहर की बिजली आपूर्ति को बंद कर दिया। ऐसे में 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक बिना बिजली के लोगों को गुजारना पड़ा। इसमें कई हॉस्पिटल भी शामिल रहे। बिगड़ते हालात को देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक के.वी रंगनाथ ने बिजली विभाग के सुपरिटेंडेंट इंजीनियर कृष्णैया से बात की और दोपहर दो बजे के बाद बिजली बहाल कर दी गई। इसके बाद पुलिस अधीक्षक ने संबंधित पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। वहीं जिला के मंत्री और स्थानीय विधायक जगदीश रेड्डी ने आश्वासन दिया कि बिजली कर्मचारियों को जल्द से जल्द पास देने की व्यवस्था की जाएगी। मंत्री ने खेद प्रकट किया कि सरकारी और निजी अस्पतालों में इलाज करा रहे कोविड मरीजों को साढ़े तीन घंटे तक बिना बिजली के छोड़ दिया गया। हिन्दुस्थान समाचार/नागराज