संघ की अपील आसपास के मजदूरों छात्रों और पूर्वोत्तर भारत लोगों चिंता करें Hindi Latest News 

बड़ी खबरें

संघ की अपील- आसपास के मजदूरों, छात्रों और पूर्वोत्तर भारत के लोगों की चिंता करें

संघ की अपील- आसपास के मजदूरों, छात्रों और पूर्वोत्तर भारत के लोगों की चिंता करें

- सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल ने वीडियो संदेश में की अपील जितेन्द्र तिवारी नई दिल्ली, 26 मार्च (हि.स.) । राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने देशवासियों और अपने स्वयंसेवकों से अपील की है कि वे कोरोना की चुनौती के बीच अपने आस-पास रहने वाले मजदूरों, घर से बाहर रहने वाले छात्रों, एकांगी बुजुर्गों और पूर्वोत्तर भारत के नागरिकों की चिंता करें एवं

जरूरत पड़ने पर सहायता प्रदान करें। संघ के सह सरकार्यवाह (ज्वाइंट जनरल सेकरेट्री) डॉ. कृष्णगोपाल ने एक वीडियो संदेश जारी कर स्वयंसेवकों से कहा है कि वे प्रशासन का सहयोग करते हुए संकट की इस घड़ी में पीड़ितों की सहायता करें। संघ ने विश्वास जताया है कि हम सबके एकजुट प्रयास से हम इस चुनौती का सफलतापूर्वक सामना करेंगे और सफल होकर निकलेंगे। डॉ. कृष्णगोपाल ने अपने संदेश में कहा कि आज हमारा देश और सम्पूर्ण विश्व एक अप्रत्याशित संकट के साथ संघर्ष कर रहा है। कोरोना नाम की बीमारी से सभी लोग लड़ रहे हैं। ऐसे में हम लोग कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें। हम लोग जहां भी रहते हैं वहां हमारी कॉलोनी के निकट हमारे मोहल्लों में या सोसाइटी के निकट बहुत सारे मजदूर और अत्यंत गरीब लोग होंगे। ऐसे लोग प्रतिदिन मजदूरी करके कमाते हैं जो कमाते हैं उसी से अपने भोजन आदि की व्यवस्था करते हैं। लॉक डाउन से उनके ऊपर एक भीषण कठिनाई आई है। ऐसे में हम लोग किसी भी प्रकार से उनके लिए खाद्य सामग्री की चिंता करें। इसके साथ ही हम यह भी देखें कि हमारी सोसाइटी या मोहल्लों के आस-पास बहुत बड़ी संख्या में बाहर से पढ़ने आए छात्र भी रहते हैं। वे भोजन आदि के लिए होटलों पर ही निर्भर रहते थे। होटल बंदी और घर से बाहर जाने पर भी पाबंदी में वे अब क्या करेंगे, कैसे करेंगे, इसकी भी चिंता करनी होगी। वहीं हमारी कॉलोनी या सोसाइटी में कुछ ऐसे बुजुर्ग लोग भी होंगे, जिनके बच्चे आदि कहीं बाहर हैं। हमें उन बुजुर्गों की भी चिंता करनी चाहिए। किसी न किसी व्यवस्था से हम उनकी जानकारी रखें और उनकी दवाई एवं भोजन की व्यवस्था में मदद करें। डॉ. कृष्णगोपाल ने असम सहित पूर्वोत्तर के सात राज्यों के दिल्ली में रहने वाले छात्रों और नौकरीपेशा लोगों का भी ध्यान रखने का विशेष आग्रह किया। उन्होंने कहा कि वे घर से बहुत दूर हैं, उन्हें कष्ट न हो, यह भी हमारी जिम्मेदारी है। संघ का कहना है कि स्वयंसेवक स्थानीय प्रशासन के संपर्क में रहें और जरूरत पड़ने पर सहायता के लिए तत्पर रहें। किसी भी प्रकार की अफवाह न फैलने दें। कोई समस्या या कठिनाई ध्यान में आती है तो हम प्रशासन को उसकी सूचना दें। हिन्दुस्थान समाचार
... क्लिक »

hindusthansamachar.in