पूरे देश की तुलना में मप्र का कोरोना ग्रोथ रेट काफी कम, सीएम ने की व्यवस्थाओं की समीक्षा

पूरे देश की तुलना में मप्र का कोरोना ग्रोथ रेट काफी कम, सीएम ने की व्यवस्थाओं की समीक्षा
पूरे देश की तुलना में मप्र का कोरोना ग्रोथ रेट काफी कम, सीएम ने की व्यवस्थाओं की समीक्षा

भोपाल, 09 जून (हि.स.)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार शाम को मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश की कोरोना ग्रोथ रेट पूरे देश की दर से काफी कम है। मध्यप्रदेश की कोरोना ग्रोथ रेट 2.74 प्रतिशत है, वहीं भारत की 5.4 प्रतिशत है। इसी प्रकार मध्यप्रदेश की कोरोना पॉजिटिविटी रेट 4.54 प्रतिशत है, वहीं भारत की 5.43 प्रतिशत है। वहीं 68.3 प्रतिशत रिकवरी रेट के साथ मध्यप्रदेश भारत में दूसरे नंबर पर आ गया है, पहले स्थान पर राजस्थान है। पूरे देश की कोरोना रिकवरी रेट 48.4 प्रतिशत है। मध्यप्रदेश में कोरोना टैस्ट प्रतिदिन की संख्या 6729 पहुंच गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि लॉकडाउन खुलने के बाद यह बहुत आवश्यक हो गया है कि हर व्यक्ति घर से बाहर निकलने पर अनिवार्य रूप से मास्क पहने। कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए मास्क अत्यंत कारगर है। एसीएस हैल्थ मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि मास्क के इस्तेमाल से ही जापान देश ने कोरोना पर नियंत्रण पाया। इस अवसर पर गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्र, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी विवेक जौहरी, एसीएस हैल्थ मोहम्मद सुलेमान आदि उपस्थित थे। फर्स्ट कॉन्टेक्ट को एकांतवास करें अशोकनगर एवं दतिया जिलों की समीक्षा में पाया गया कि वहां कोरोना के कुछ नए प्रकरण आए हैं। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि पॉजिटिव कोरोना प्रकरणों में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग अनिवार्य रूप से की जाए। साथ ही फर्स्ट कॉन्टेक्ट में आए सभी व्यक्तियों का अनिवार्य रूप से सैम्पल लिया जाए एवं उन्हें एकांतवास किया जाए। पचास हाई फ्लो ऑक्सीजन मशीन प्राप्त एसीएस हैल्थ मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि प्रदेश के लिए 250 हाई फ्लो ऑक्सीजन मशीन का आर्डर दिया गया है, जिनमें से 50 मशीनें प्राप्त हो गई हैं। उन्होंने बताया कि इन मशीनों के माध्यम से मरीजों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन प्रतिदिन दिया जा सकता है, जो कि कोरोना के इलाज में काफी प्रभावी होता है। पाँच जिले कोरोना संक्रमण मुक्त समीक्षा के दौरान पाया गया कि प्रदेश के पांच जिले अलीराजपुर, हरदा, होशंगाबाद, सिवनी तथा झाबुआ कोरोना के संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश तोमर / उमेद सिंह रावत-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.