चैत्र नवरात्र की महाअष्टमी पर नहीं होगी नगर पूजा
चैत्र नवरात्र की महाअष्टमी पर नहीं होगी नगर पूजा
news

चैत्र नवरात्र की महाअष्टमी पर नहीं होगी नगर पूजा

news

चैत्र नवरात्र की महाअष्टमी पर नहीं होगी नगर पूजा उज्जैन, 29 मार्च (हि.स.)। इन दिनों चैत्र नवरात्रि का पर्व चल रहा है, लेकिन कोरोना वायरस के कारण पूरा देश लॉक डाउन है और लोग अपने घरों में ही पूजा-पाठ कर रहे हैं। हर साल उज्जैन में नगर की खुशहाली और सुख-समद्धि के लिए चैत्र नवरात्र की अष्टमी तिथि को नगर पूजा की जाती थी, जिसे कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के चलते निरस्त कर दिया गया है। यह जानकारी रविवार को कलेक्टर शशांक मिश्र ने मीडिया को दी। इस बार आगामी एक अप्रैल को चैत्र नवरात्र की महाअष्टमी पड़ रही है, लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए पंचायती निरंजनी अखाड़ा के श्रीमहंत और श्री मनसा माता मंदिर ट्रस्ट हरिद्वार के अध्यक्ष रविंद्र पुरी महाराज द्वारा नवरात्रि महापर्व पर महाअष्टमी पर की जाने वाली नगर पूजा निरस्त कर दी है। इस वर्ष जानलेवा संक्रमणकाल को देखते हुए महंत द्वारा हरिद्वार में ही कोरोना के प्रकोपों को दूर करने के लिए श्री मंशा माता मंदिर में नित्य पूजन-अनुष्ठान किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि इस परंपरा की शुरुआत सम्राट राजा वीर विक्रमादित्य द्वारा नगर की संपन्नता के लिए की गई थी, जिसका निर्वहन जिला प्रशासन द्वारा शारदीय और चैत्र नवरात्रि में किया जाता है। पिछले दो वर्षों से निरंजनी अखाड़े द्वारा नगर पूजा संपन्न कराई जाती रही है। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश तोमर-hindusthansamachar.in