लैंगिक संवेदनशीलता पर शिक्षा मंत्री से महिला प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात

 लैंगिक संवेदनशीलता पर शिक्षा मंत्री से महिला प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात
women-delegation-meets-education-minister-on-gender-sensitivity

नई दिल्ली, 8 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्रीय शिक्षा और कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार को महिलाओं पर शोध करने करने वाले एक महिला से प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। इस दौरान इस महिला प्रतिनिधिमंडल ने लैंगिक संवेदनशीलता बढ़ाने के विषय पर केंद्रीय मंत्री से महत्वपूर्ण चर्चा की। प्रतिनिधिमंडल ने शिक्षा के माध्यम से लैंगिक संवेदनशीलता बढ़ाने पर जोर देने की अपील की। इस दौरान केंद्रीय शिक्षा मंत्री से शैक्षणिक गतिविधियों के अलावा एनसीसी और स्काउट्स जैसे क्षेत्र में छात्राओं की भागीदारी बढ़ाने की मांग की गई। ²ष्टि स्त्री अध्ययन प्रबोधन केंद्र नामक यह केंद्र समाज में महिलाओं की स्थिति के संबंध में आवश्यक और महत्वपूर्ण मुद्दों पर शोध करता है। यह अध्ययन केंद्र महिलाओं की स्थिति को समझने पर भी काम कर रहा है। ²ष्टि स्त्री अध्ययन प्रबोधन केंद्र के महिला प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को भारत में महिलाओं की स्थिति शीर्षक से एक रिपोर्ट भी प्रस्तुत की है। प्रतिनिधिमंडल ने शिक्षा के माध्यम से लैंगिक संवेदनशीलता बढ़ाने, एनसीसी, एनएसएस, स्काउट्स एंड गाइड्स में छात्राओं की भागीदारी बढ़ाने, कौशल विकास और खेल को बढ़ावा देने और छात्राओं के लिए प्रासंगिक अन्य मुद्दों पर सुझाव साझा किए। इस बीच शिक्षा मंत्रालय और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) सुशासन पर वेबिनार श्रृंखला के हिस्से के रूप में महिलाओं के सशक्तिकरण, लैंगिक समानता पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन भी कर चुका है। इस आयोजित वेबिनार में वाणिज्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल, उच्च शिक्षा सचिव, यूजीसी के अध्यक्ष प्रोफेसर डीपी सिंह उपस्थित रहे। इस दौरान अनुप्रिया पटेल ने कहा कि लैंगिक समानता न केवल महिलाओं के लिए अच्छी है, यह समाज और राष्ट्र के लिए भी अच्छी है। मंत्री ने पुरुषों और महिलाओं के लिए समान अधिकार, समान भूमिका और समान अवसर की आवश्यकता पर बल दिया ताकि वे जीवन के सभी आयामों में समान रूप से योगदान दें। मंत्री ने कहा, संसाधनों तक महिलाओं की पहुंच बढ़ाने, जीवन पर उनका नियंत्रण और उनके निर्णय लेने के अधिकारों पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए। --आईएएनएस जीसीबी/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.