बंगाल में चुनाव पर कोई प्रभाव नहीं डाल सकेंगे तेजस्वी: विजयवर्गीय

बंगाल में चुनाव पर कोई प्रभाव नहीं डाल सकेंगे तेजस्वी: विजयवर्गीय
will-not-be-able-to-make-any-impact-on-elections-in-bengal-vijayvargiya

विजयवर्गीय का विश्वास- प्रधानमंत्री में विश्वास के चलते बंगालवासी भाजपा को देंगे वोट कोलकाता, 02 मार्च (हि.स.)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव की नजदीकियों का यहां के चुनाव पर पड़ने वाले प्रभाव को भाजपा ने खारिज कर दिया है। मंगलवार को पार्टी के बंगाल इकाई के प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि बंगाल विधानसभा चुनाव में तेजस्वी यादव का कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला है। विजयवर्गीय एक दिन पहले राज्य सचिवालय नवान्न में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से तेजस्वी की मुलाकात के परिप्रेक्ष्य में अपनी प्रतिक्रिया दे रहे थे। उन्होंने कहा कि बंगाल के लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में विश्वास की वजह से भाजपा को वोट करेंगे। 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले ममता बनर्जी ने कोलकाता में एक मंच पर सभी दलों के नेताओं को बुलाकर खुद को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में पेश किया। इसके बावजूद बंगाल की जनता ने उन्हें वोट नहीं दिया। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव या कोई भी बंगाल चुनाव पर असर नहीं डाल सकेगा। पश्चिम बंगाल के लोगों को नरेंद्र मोदी पर भरोसा है, इसी वजह से राज्य के लोग भाजपा सरकार बनाने के लिए उत्साहित हैं। माकपा के इंडियन सेकुलर फ्रंट (आईएसएस) के साथ गठबंधन पर कांग्रेस नेताओं की असहमति के सवाल पर विजयवर्गीय ने कहा कि मैं कांग्रेस के बारे में टिप्पणी नहीं करना चाहता। यह उनकी अपनी लड़ाई है। जब स्वार्थी जरूरतों के लिए लड़ाई होती है, तब आपसी रिश्ते काफी कमजोर होते हैं। उन्होंने कहा कि लालच पर आधारित गठबंधन लंबे समय तक नहीं चलता है। यह चिंताजनक है कि कांग्रेस, सीपीएम और तृणमूल तुष्टीकरण की राजनीति के लिए किसी भी हद तक जा रहे हैं। पश्चिम बंगाल में भाजपा के केंद्रीय पर्यवेक्षक विजयवर्गीय ने 07 मार्च को कोलकाता में होने वाली प्रधानमंत्री मोदी की जनसभा को लेकर कहा कि 'सबका साथ, सबका विकास' के संदेश के साथ मोदी की रैली पश्चिम बंगाल के इतिहास की सबसे बड़ी रैली होगी। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश