नई टीम के साथ कोविड की मूल जांच को फिर से शुरू करेगा डब्ल्यूएचओ

 नई टीम के साथ कोविड की मूल जांच को फिर से शुरू करेगा डब्ल्यूएचओ
who-will-resume-original-investigation-of-kovid-with-new-team

वाशिंगटन, 27 सितम्बर (आईएएनएस)। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) एक नए जांच दल के साथ कोविड-19 की उत्पत्ति की जांच फिर से शुरू करने के लिए तैयार है। एक नई टीम में लगभग 20 वैज्ञानिक शामिल हैं। इसमें प्रयोगशाला सुरक्षा, जैव सुरक्षा के विशेषज्ञ, आनुवंशिकीविद् और पशु-रोग विशेषज्ञ शामिल हैं, जो इस बात से वाकिफ हैं कि वायरस मूल प्रकृति से आखिर कैसे फैलते हैं। वॉल स्ट्रीट जर्नल (डब्लूएसजे) ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया कि वे चीन और अन्य जगहों पर नए सबूतों की तलाश करेंगे। एक संयुक्त डब्ल्यूएचओ-चीन जांच, जिसके निष्कर्ष इस साल मार्च में जारी किए गए थे, ने इस संभावना को खारिज कर दिया था कि वायरस बेहद असंभव के रूप में एक प्रयोगशाला से गलती से उभरा था। जुलाई में स्वास्थ्य निकाय के महानिदेशक ट्रेडोस अदनोम घेब्रेयसस ने रिपोर्ट को कमतर आंकते हुए वुहान में अध्ययन के दूसरे चरण का प्रस्ताव रखा था, जिसमें वुहान शहर में प्रयोगशालाओं और बाजारों का ऑडिट शामिल है। घेब्रेयसस के अनुसार, महामारी के स्रोत की जांच करने के लिए चीन की यात्रा करने वाली अंतरराष्ट्रीय टीम के लिए कच्चे डेटा तक पहुंच प्राप्त करना एक चुनौती था। वैश्विक स्वास्थ्य निकाय के वैज्ञानिकों के अनुसार, यह निर्धारित करने के लिए समय समाप्त हो रहा है कि महामारी कैसे शुरू हुई, जैसे कि रक्त के नमूने फेंके जा रहे हैं और जल्द से जल्द कोविड -19 पीड़ितों में एंटीबॉडी अवांछनीय स्तर तक लुप्त हो रहे हैं। हालांकि, चीन ने डब्ल्यूएचओ पर अहंकार और सामान्य ज्ञान का अनादर का आरोप लगाते हुए जांच को खारिज कर दिया है। चीनी वैज्ञानिकों ने डब्ल्यूएचओ को मैरीलैंड के फोर्ट डेट्रिक में यूएस आर्मी मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ इंफेक्शियस डिजीज सहित अन्य देशों में कोविड-19 की उत्पत्ति के लिए इसका विस्तार करने के लिए भी कहा है। नतीजतन, इस सप्ताह के अंत तक चुनी जाने वाली नई टीम को चीन से कड़े प्रतिरोध का सामना करना पड़ सकता है। डब्लूएसजे की रिपोर्ट में कहा गया है कि डब्ल्यूएचओ की मूल टीम को भंग कर दिया गया है। चीनी सरकार ने यह स्पष्ट करने से इनकार कर दिया है कि क्या वह देश में एक नई टीम को अनुमति देगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि चीन ने पिछली जांच में पूरा सहयोग किया है। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने पिछले सप्ताह संयुक्त राष्ट्र महासभा में कहा था, चीन वैश्विक विज्ञान-आधारित उत्पत्ति का समर्थन करना और उसमें संलग्न होना जारी रखेगा और किसी भी रूप में राजनीतिक पैंतरेबाजी का ²ढ़ता से विरोध करेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा था कि देश डब्ल्यूएचओ की नई टीम के चयन की बारीकी से निगरानी करेगा और बीजिंग ने कई लोगों को इसका हिस्सा बनने के लिए निर्धारित भी किया है। यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि नई टीम चीन में विशेषज्ञों को शामिल करने में सक्षम होगी या मूल बहस को हल करने में महत्वपूर्ण प्रगति करेगी, खासकर जब इस पर गतिरोध बना हुआ है। डब्ल्यूएचओ के प्रवक्ता के हवाले से कहा गया है कि नई टीम की प्राथमिकता उस देश में डेटा और पहुंच करना होनी चाहिए, जहां पहली रिपोर्ट (कोविड-19) की पहचान की गई थी। --आईएएनएस एकेके/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.