काशी विश्वनाथ मंदिर में कोरोना रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही मिलेंगे दर्शन

काशी विश्वनाथ मंदिर में कोरोना रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही मिलेंगे दर्शन
visitation-will-be-done-only-after-the-corona-report-is-negative-in-kashi-vishwanath-temple

-ये नियम श्री संकटमोचन, अन्नपूर्णा मंदिर में भी लागू - प्रशासन की ओर से मार्मिक अपील 'हो सके तो वाराणसी न आवें' वाराणसी,14 अप्रैल (हि.स.)। वाराणसी में कोरोना संक्रमण की तेज रफ्तार को देखते हुए जिला प्रशासन ने मंदिरों में भीड़-भाड़ को रोकने के लिए बुधवार को नयी गाइड लाइन जारी की है। वाराणसी परिक्षेत्र के कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के कोरोना टेस्ट रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य कर दिया है। मंदिर में आने के 72 घंटे पूर्व की आरटीपीसीआर रिपोर्ट निगेटिव दिखाने पर ही श्रद्धालुओं को मंदिर परिसर में प्रवेश मिलेगा। कमिश्नर ने लोगों से अपील किया है कि जरूरी होने पर ही वाराणसी आएं। यदि कोई जरूरी कार्य न हो तो आसपास के जनपदों से लोग शहर में न आएं और अपने घरों पर ही सुरक्षित रहें। कोरोना के विस्फोट को देखते हुए श्री संकट मोचन मंदिर में भी दर्शनार्थियों को आरटीपीसीआर रिपोर्ट निगेटिव दिखाने पर ही दर्शन पूजन की अनुमति मिलेगी। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर परिक्षेत्र स्थित मां अन्नपूर्णा मंदिर में भी मंदिर प्रबंधन ने ये नियम लागू कर दिया है। मंदिर के महंत रामेश्वर पुरी कोरोना संक्रमित हैं। उनका इलाज वेदान्ता लखनऊ में चल रहा है। वाराणसी में आने के लिए एडवाइजरी जारी- वाराणसी में कोरोना के कहर को देखते हुए देश-विदेश से वाराणसी आने वाले लोगों के लिए जिला प्रशासन ने एडवाइजरी जारी की है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने वाराणसी आने वाले सभी व्यक्तियों और यात्रियों से अपील है कि वाराणसी में अभूतपूर्व कोविड संक्रमण फैल जाने की वजह से अप्रैल के पूरे महीने में वाराणसी न आयें। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में बुधवार से प्रवेश के लिए कोविड निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट आवश्यक कर दी गई है, इसके बिना मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। बाहरी प्रदेशों से आने वाले यात्रियों को शहर में ठहरने के लिए भी शीघ्र कोविड नेगेटिव रिपोर्ट की व्यवस्था लागू की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/राजेश /रामानुज