uttar-pradesh-bjp-to-organize-caste-specific-outreach-program
uttar-pradesh-bjp-to-organize-caste-specific-outreach-program
देश

जाति विशेष आउटरीच कार्यक्रम आयोजित करेगी उत्तर प्रदेश भाजपा

news

नई दिल्ली, 5 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सभी समुदायों को लुभाने के उद्देश्य से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अनुसूचित जाति (एससी) और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) समुदाय के लोगों के लिए एक जाति विशेष कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बना रही है। रणनीति के अनुसार, कार्यक्रम ओबीसी और एससी की सभी जातियों और उप-जातियों पर केंद्रित होंगे। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि इन कार्यक्रमों के माध्यम से भाजपा उत्तर प्रदेश में सभी जातियों और समुदायों का समर्थन हासिल करने की कोशिश करेगी। पार्टी के एक अन्य नेता ने योजना के बारे में बताते हुए कहा कि आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश इकाई में भाजपा के ओबीसी और एससी मोर्चा के कार्यकर्ता छोटी-बड़ी बैठकों जैसे विभिन्न विशिष्ट कार्यक्रमों के माध्यम से राज्य की सभी जातियों और समुदायों तक पहुंचेंगे। ओबीसी पर विशेष ध्यान दिया जाएगा, क्योंकि वे राज्य के कुल मतदाताओं के 50 प्रतिशत से अधिक हैं। पार्टी के एक अंदरूनी सूत्र ने कहा, उत्तर प्रदेश के चुनाव में ओबीसी एक महत्वपूर्ण और निर्णायक भूमिका निभाते हैं और इन जाति विशेष कार्यक्रमों के माध्यम से हम राज्य की सभी ओबीसी जातियों तक पहुंचने की कोशिश करेंगे। इसी तरह, एससी के लिए राज्य भर में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिसमें उन्हें समझाया जाएगा कि कैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा ने समाज के कमजोर और हाशिए के वर्गों के उत्थान के लिए काम किया है। उन्होंने कहा, इन कार्यक्रमों के जरिए भाजपा यह बताएगी कि किस तरह अन्य राजनीतिक दलों ने उन्हें धोखा दिया है और उन्हें केवल वोट बैंक के रूप में देखा है। पार्टी के एक सूत्र ने कहा, ओबीसी समुदायों के साथ बैठक के दौरान, हम समुदायों को समझाएंगे कि यह नरेंद्र मोदी सरकार ही है, जिसने पिछले सात वर्षों में उनके कल्याण और सशक्तिकरण के लिए कई उपाय किए हैं और राज्य में योगी आदित्यनाथ सरकार ने जमीनी स्तर पर काम किया है। पार्टी के एक अन्य नेता ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में ओबीसी एक प्रभावशाली और निर्णायक वोट बैंक है और हाल के दिनों में इसने भाजपा के उदय में महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाई है। उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश में ओबीसी चुनावी रूप से महत्वपूर्ण हैं। इस बार हम सभी ओबीसी समुदायों खासकर गैर-यादवों का समर्थन हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं। --आईएएनएस एकेके/एएनएम