यूएई हेल्थकेयर ग्रुप ने केरल नर्सो को सहायता की पेशकश की

 यूएई हेल्थकेयर ग्रुप ने केरल नर्सो को सहायता की पेशकश की
uae-healthcare-group-offers-support-to-kerala-nurses

दुबई, 22 मई (आईएएनएस)। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में स्वास्थ्य सेवा समूहों ने केरल की उन नर्सों को काम की पेशकश की है, जो कोविड जॉब घोटालों के कारण देश में फंसी हुई हैं। बुधवार को एक रिपोर्ट में, गल्फ न्यूज ने कहा, दक्षिण भारतीय राज्य की कई नर्सें भर्ती एजेंसियों द्वारा ठगे जाने के बाद फंस गईं, जिनसे 200,000 रुपये से 350,000 रुपये तक का अत्यधिक कमीशन लिया। उन्हें यूएई में कोविड -19 टीकाकरण और परीक्षण केंद्रों पर नौकरी की पेशकश की गई थी। इस रिपोर्ट के बाद, प्रमुख स्वास्थ्य समूहों ने अब प्रभावित नर्सों को नौकरी की पेशकश की है। शुक्रवार को गल्फ न्यूज से बात करते हुए, एस्टर डीएम हेल्थकेयर के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, आजाद मूपेन ने कहा, हम लाइसेंस के साथ या साथ नहीं होने के बावजूद योग्य और पर्याप्त अनुभव रखने वाली नर्सो को रखने के लिए तैयार हैं। उन्हें साक्षात्कार में अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम होना चाहिए। अगर उनके पास लाइसेंस नहीं है, तो हम उनके वीजा की प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं और लाइसेंस के लिए प्रयास करने के लिए उन्हें सहायता प्रदान कर सकते हैं। राइट हेल्थ के प्रबंध निदेशक संजय एम. पैठंकर ने कहा कि उनका समूह भी 40 नर्सों को काम पर रखने को तैयार है। हमने दुबई में अभी पांच और सुविधाएं खोली हैं। वे तुरंत शामिल हो सकती हैं। उन्हें रखन के लिए फ्लैट तैयार हैं। हम डीएचए लाइसेंस प्राप्त होने तक वीजा, आवास, परिवहन और मूल वेतन की व्यवस्था करेंगे। बुधवार को गल्फ न्यूज से बात करते हुए, दुबई में भारत के महावाणिज्य दूत अमन पुरी ने कहा कि फंसी हुई नर्सों को इस मामले की रिपोर्ट मिशन को देनी चाहिए ताकि उन्हें प्रत्यावर्तन में सहायता मिल सके। --आईएएनएस आरएचए/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.