विधानसभा आकर भी भाजपा के दो सांसदों ने नहीं ली विधायक पद की शपथ, अटकलें तेज

विधानसभा आकर भी भाजपा के दो सांसदों ने नहीं ली विधायक पद की शपथ, अटकलें तेज
two-bjp-mps-did-not-take-oath-for-mla-post-even-after-coming-to-assembly-speculation-intensified

कोलकाता, 07 पश्चिम (हि.स.)। बंगाल विधानसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद प्रदेश भाजपा में ही रार मची है। गुरुवार और शुक्रवार को नवनिर्वाचित विधायकों के लिए शपथ सुनिश्चित किया गया था लेकिन चुनाव में जीत के बावजूद भाजपा विधायक जगन्नाथ सरकार और निशित प्रमाणिक ने शपथ नहीं ली है। उनकी घर वापसी की अटकलों का बाजार गर्म है। जगनाथ सरकार नदिया के राणाघाट से सांसद भी हैं और निशिथ कूचबिहार से सांसद हैं। नदिया के ही शांतिपुर से जगन्नाथ सरकार की जीत हुई है, जबकि निशिथ कूचबिहार के दिनहटा विधानसभा क्षेत्र से विजयी हुए हैं। नियमानुसार आगामी छह महीने के अंदर इन दोनों को विधायक और सांसद में से एक पद छोड़ना होगा। फिलहाल उन्होंने विधायक के तौर पर शपथ नहीं ली है तो अटकलें लगाई जा रही हैं कि दोनों सांसद बने रहना चाहते हैं और इनकी जगह उपचुनाव हो सकता है। प्रदेश भाजपा सूत्रों ने बताया है कि दोनों विधायक का चुनाव नहीं लड़ना चाहते थे, लेकिन पार्टी के दबाव में वे तैयार हो गए थे। अब जबकि जीत के आए हैं तब भी वह सांसद का पद नहीं छोड़ना चाहते हैं। निशित प्रमाणिक तो केवल 57 वोट से विजयी हैं। सूत्रों ने बताया है कि सांसद के तौर पर मिलने वाली अतिरिक्त सुविधाओं और वेतन को दोनों छोड़ना नहीं चाहते। हालांकि संघ परिवार और भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व चाहता है कि दोनों विधायक बने रहें। हालांकि इनके तृणमूल से भी संपर्क बढ़ने की चर्चाएं हो रही हैं। बहरहाल, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने इन अटकलों को खारिज किया है। जब तक ये दोनों सामने आकर इस बारे में स्थिति स्पष्ट नहीं करते तब तक कुछ भी कह पाना संभव नहीं है। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश