tribute-paid-to-the-mortal-remains-of-martyred-soldier-shambhu-roy-at-tripura-airport-in-maoist-attack
tribute-paid-to-the-mortal-remains-of-martyred-soldier-shambhu-roy-at-tripura-airport-in-maoist-attack
देश

माओवादी हमले में शहीद जवान शंभू रॉय के पार्थिव शरीर को त्रिपुरा हवाई अड्डे पर दी गई श्रद्धांजलि

news

- हवाई अड्डे से पार्थिव शरीर भाग्यनगर स्थित पैतृक घर ले जाया गया अगरतला, 06 अप्रैल (हि.स.)। छत्तीसगढ़ में माओवादियों से लड़ते शहीद हुए त्रिपुरा के वीर सपूत सीआरपीएफ जवान शंभू राय का पार्थिव शरीर मंगलवार को अगरतला पहुंचा। एमबीबी हवाई अड्डे पर उन्हें शहीद को सांसद प्रतिमा भौमिक, विधायक डॉ. दिलीप दास और सीआरपीएफ के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों व पुलिस अधिकारियों ने श्रद्धांजलि दी। हवाई अड्डे से अंत्येष्टि क्रिया के लिए पार्थिव शरीर को उत्तरी त्रिपुरा जिलांतर्गत धर्मनगर के भाग्यनगर स्थित उनके घर ले जाया गया। शहीद का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। जवान के शव के त्रिपुरा पहुंचते ही पूरे इलाके में शोक की लहर दौड़ गयी। मंगलवार को शहीद जवान के पार्थिव शरीर पहुंचने पर एमबीबी एयरपोर्ट पर सीआरपीएफ के जवानों ने उन्हें सलामी दी। सांसद प्रतिमा भौमिक सहित अन्य गणमान्य लोगों ने पुष्पांजलि अर्पित कर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित किया। मंगलवार को सीआरपीएफ के आईजी ने कहा, मैं जवान शंभू रॉय की शहादत पर अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। उन्होंने कहा कि शंभू रॉय 210वीं कोबरा बटालियन में सेवारत थे। गत रविवार को सीआरपीएफ ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर, सुकमा इलाके में नक्सलियों के खिलाफ पुलिस के साथ संयुक्त रूप से अभियान चलाया था। जवान शंभू रॉय ने वहां नक्सलियों के हमले में अपनी जान गंवा दी। उसी दिन 22 और सैनिकों ने देश की सेवा में सर्वोच्च बलिदान दिया। उन्होंने कहा कि शहीद जवान शंभू राय का पार्थिव शरीर त्रिपुरा पहुंच गया है। मैं उनकी आत्मा की शाश्वत शांति की कामना करता हूं। शहीद को श्रद्धांजलि देने के बाद सांसद प्रतिमा भौमिक ने कहा, सीआरपीएफ के जवान शंभू रॉय ने मातृभूमि और हमारी रक्षा के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया है। मैं उन्हें नमन करती हूं। उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करती हूं। उन्होंने कहा कि मृत्यु हमेशा दुख लाती है। लेकिन हमें शंभू रॉय की वीरता पर गर्व है। पूरे देश को आज उन पर गर्व है। सांसद ने आज शहीद जवान के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि सैनिकों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई अब और तेज होगी। विधायक डॉ. दिलीप दास ने कहा कि नक्सलियों की बर्बरता को किसी भी तरह से स्वीकार नहीं किया जा सकता है। मैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की अपील करता हूं। उन्होंने प्रधानमंत्री से चरमपंथ को मिटाने का आह्वान किया। शहीद जवान के प्रति आभार व्यक्त करते हुए शोक संतप्त परिवार के प्रति अपनी संवेदना ज्ञापित किया। हिन्दुस्थान समाचार/ संदीप/अरविंद/सुनीत