बारिश के कहर के बाद चेन्नई में आसमान छू रही हैं टमाटर की कीमतें

 बारिश के कहर के बाद चेन्नई में आसमान छू रही हैं टमाटर की कीमतें
tomato-prices-skyrocketing-in-chennai-after-the-rain

चेन्नई, 24 नवंबर (आईएएनएस)। एक ओर तमिलनाडु में लोग बारिश से हुए त्रासदी से उबर भी नहीं पाए हैं कि वहीं राजधानी चेन्नई में टमाटर के दाम आसमान छू गये हैं। कोयम्बेडु की थोक सब्जी मंडी में एक किलो टमाटर की कीमत 120 रुपये और शहर भर के खुदरा बाजारों में इसकी कीमत 150 रुपये/किलो पहुंच गई है। आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु के कृष्णागिरी जिले के कई हिस्सों में भारी बारिश (जहां बड़े क्षेत्रों में फसल की खेती की जाती है) के कारण पानी से भर गया है। आंध्र प्रदेश के कई हिस्सों में या तो पूरी फसल बर्बाद हो गई है या 80 फीसदी से ज्यादा फसल बर्बाद हो चुकी है। कोयम्बेडु के सब्जी और फल व्यापारी संघ के महासचिव एम. पलानीमाइकम ने आईएएनएस को बताया, टमाटर 20 रुपये प्रति किलो बिक रहा था और अचानक बारिश हुई और इससे कर्नाटक और आंध्र प्रदेश के साथ-साथ तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में पूरी फसल बर्बाद हो गई। किसानों ने हमें बताया कि उन्हें भारी नुकसान हुआ है और ज्यादातर हिस्सों में, पूरी फसल बर्बाद हो गई है जबकि कुछ हिस्सों में 80 प्रतिशत फसल बर्बाद हो चुकी है। इस कारण चेन्नई में टमाटर की कीमतें आसमान छू रही हैं। हालांकि, प्याज और आलू के दाम नहीं बढ़े हैं और 60 रुपये किलो बिक रहे हैं। कोयम्बेडु बाजार के एक व्यापारी अब्दुल रहीम ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा, हमें बाजार में प्रति दिन 70 से 80 लोड टमाटर मिलते थे, लेकिन यह 30 फीसदी कम हो गया है। इससे कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है। व्यापारियों ने बताया कि आंध्र प्रदेश में भारी बारिश और खेतों में जलभराव के कारण लगभग पूरी फसल बर्बाद हो जाने से किसान बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। भिंडी की कीमत चेन्नई के बाजार में 120 रुपये प्रति किलो है और गोभी की कीमत भी 45 से 60 रुपये प्रति किलो हो गई है। कीमतों में उछाल ने लोगों के बजट में भी उछाल ला दिया है और कई लोग अपनी खरीदारी में कटौती करने लगे हैं। अशोक पिलर इलाके में रहने वाले और एक ऑटोमोबाइल प्रमुख के सेवानिवृत्त कर्मचारी श्रीधरन उन्नीथन ने आईएएनएस को बताया, हमारा परिवार शाकाहारी है और टमाटर, बैंगन और भिंडी की कीमतों में भारी उछाल को देखते हुए, मैंने खरीद में कटौती करने का फैसला किया है। बारिश की और भविष्यवाणी के साथ, व्यापारियों को लगता है कि आपूर्ति की भारी कमी होगी और इससे कोयम्बेडु सहित चेन्नई के थोक और खुदरा सब्जी बाजारों में चावल की कीमतों में भी और बढ़ोत्तरी होगी। --आईएएनएस एचके/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.