कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए संघ के 10 लाख से ज्यादा कार्यकर्ताओं ने लिया विशेष प्रशिक्षण - सुनील आंबेकर

 कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए संघ के 10 लाख से ज्यादा कार्यकर्ताओं ने लिया विशेष प्रशिक्षण -   सुनील आंबेकर
to-deal-with-the-third-wave-of-corona-more-than-10-lakh-workers-of-the-sangh-took-special-training---sunil-ambekar

नई दिल्ली , 26 अक्टूबर ( आईएएनएस)। कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने कहा कि इससे निपटने के लिए देशभर में 1.5 लाख से अधिक स्थानों पर प्रशिक्षण कार्यक्रम हो चुका है, जिसमें 10 लाख से ज्यादा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जा चुका है। कर्नाटक के धारवाड़ में 28 अक्टूबर से लेकर 30 अक्टूबर तक होने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक की जानकारी देते हुए सुनील आंबेकर ने कहा कि जुलाई महीने की बैठक में कार्यकतार्ओं के विशेष प्रशिक्षण को लेकर विचार विमर्श हुआ था। उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि आशा है कि तीसरी लहर न हो, लेकिन फिर भी परिस्थिति की समीक्षा के साथ तैयारी को लेकर इस 3 दिवसीय बैठक में चर्चा होगी। संघ के अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल के बैठक स्थल ( राष्ट्रोत्थान विद्या केंद्र , धारवाड़) पर मीडिया से बात करते हुए सुनील आंबेकर ने कहा कि पिछले कुछ समय से बांग्लादेश में हिन्दुओं पर निरंतर हमले हुए हैं, हिंसा की घटनाएं हो रही हैं। इन घटनाओं की विश्व भर में निंदा हुई है। कार्यकारी मंडल की बैठक में हिन्दुओं के खिलाफ हिंसा की घटनाओं को लेकर चर्चा होगी, सर्वसम्मत निर्णय होने पर प्रस्ताव भी पारित होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि बैठक में देश की स्वाधीनता के 75 वर्ष होने पर मनाए जा रहे अमृत महोत्सव, 2025 में संघ के 100 वर्ष पूरे होने पर होने वाले कार्यक्रमों, श्री गुरु तेगबहादुर जी के 400वें प्रकाश वर्ष पर होने वाले कार्यक्रमों के साथ-साथ संघ के कार्य विस्तार और अगले 3 वर्ष की योजना पर भी विस्तार से चर्चा होगी। संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने बताया कि पिछले वर्ष से लेकर अभी जुलाई तक सारी बैठकें ऑनलाइन माध्यम के साथ ही कम संख्या में प्रत्यक्ष उपस्थिति के साथ संपन्न हुईं थीं। अब पहली बार पूर्ण उपस्थिति में कार्यकारी मंडल की बैठक हो रही है। उन्होंने बताया कि इससे पहले प्रतिनिधि सभा की बैठक में कार्य विस्तार की ²ष्टि से जो योजना बनाई गई थी, उसके प्रगति की समीक्षा इस बैठक में की जाएगी। आंबेकर ने कहा कि 28 अक्टूबर को सुबह 9 बजे शुरू होने और 30 अक्टूबर को समाप्त होने वाले इस 3 दिवसीय बैठक के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन किया जाएगा। आपको बता दें कि संघ की इस अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक में भाजपा नेताओं के अलावा संघ से जुड़े विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। इस बैठक में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, संघ के वरिष्ठ नेता, सभी प्रांतों व क्षेत्रों के संघचालक, कार्यवाह एवं प्रचारक तथा अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य भी शामिल होंगे। संघ के विभिन्न संगठनों से जुड़े लगभग 350 नेताओं की इस बैठक को अगले वर्ष होने वाले 5 राज्यों के विधान सभा चुनाव के मद्देनजर भी काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। --आईएएनएस एसटीपी/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.