गुजरात और समीपवर्ती क्षेत्रों में 15 तारीख को 'तौकते' तूफान, अरब सागर में सक्रिय होने की संभावना

गुजरात और समीपवर्ती क्षेत्रों में  15 तारीख को  'तौकते' तूफान, अरब सागर में सक्रिय होने की संभावना
thunderstorms-in-gujarat-and-adjoining-areas-on-15th-likely-to-become-active-in-arabian-sea

अहमदाबाद,13 मई (हिं.स.)। गुजरात 15 मई को 'तौकते' नामक तूफान की चपेट में आ सकता है। इस तरह का पूर्वानुमान मौसम विभाग ने लगाया है। अगले तीन-चार दिनों में गुजरात के अलावा तूफान के महाराष्ट्र और गोवा के तटीय इलाकों से टकराने की आशंका है। मौसम विभाग के अनुसार, तूफान के सौराष्ट्र-कच्छ और दक्षिण गुजरात के तटों पर सप्ताह के अंत तक पहुंचने की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार, 14 मई को अरब सागर में हवा का दबाव बन सकता है, जो 15 मई को डिप्रेशन और डीप डिप्रेशन में बदल सकता है। हवा का यह दबा 16 मई को तूफान के रूप में सक्रिय हो सकता है। मौसम विभाग ने कहा कि बारिश के साथ तूफान आ सकता है। हालांकि, वर्तमान में किसी भी तरह की कोई चिंता की स्थिति नहीं है। 'तौकते' का मतलब है अधिक शोर वाली छिपकली। नए तूफान का यह नाम म्यांमार से आया है। अरब सागर में संभावित तूफान कच्छ जिले से टकरा सकता है। इस सूचना के बाद कच्छ जिले में तटरक्षक बल सहित सभी एजेंसियां हाई अलर्ट पर हैं और नौकाओं को किनारे पर लौटने के लिए कहा गया है। अगले तीन-चार दिनों में गुजरात के अलावा तूफान के महाराष्ट्र और गोवा के तटीय इलाकों से टकराने की संभावना है। तटरक्षक कर्मियों ने समुद्र में मछली पकड़ने वाले लोगों को सुरक्षित किनारे पहुंचने के लिए कहा है। विशेष रूप से कच्छ में कंडला और मुंद्रा में दो प्रमुख बंदरगाह हैं। इसके साथ ही, नलिया के जखौ बंदरगाह का मछली पकड़ने के लिए बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है। । मौसम विभाग के अनुसार, शुक्रवार सुबह दक्षिण-पूर्वी अरब सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की उम्मीद है। उसने कहा कि, यह दक्षिण-पूर्व अरब सागर और निकटवर्ती लक्षद्वीप क्षेत्र में उत्तर-पश्चिम की ओर तेजी से आगे बढ़ने की क्षमता रखता है। इसके कारण, मौसम विभाग ने लक्षद्वीप, केरल, कर्नाटक, गोवा और महाराष्ट्र में भारी बारिश की आशंका जताई है। हिन्दुस्थान समाचार/हर्ष शाह / प्रभात ओझा

अन्य खबरें

No stories found.