thieves-opened-13-bunkers-near-indo-pak-border-police-arrested-3
thieves-opened-13-bunkers-near-indo-pak-border-police-arrested-3
देश

भारत-पाक सरहद के समीप 13 बंकर खोलकर ले गए चोर, पुलिस ने 3 को दबोचा

news

जैसलमेर, 08 फरवरी (हि.स.)। सरहदी जिले जैसलमेर के नाचना क्षेत्र में लुढ़ायत गांव के पास भारतीय सेना के जवानों की सुरक्षा के लिए 1999 में करगिल युद्ध के समय तनाव को देखते हुए बनाए गए लोहे के बंकर चोरों के हत्थे चढ़ गए हैं। चोरों के हौसले इतने बुलंद है कि सीमा के नजदीक तक पहुंचकर उन्होंने लोहे के 13 बंकर चुरा लिए। एक चरवाहे की सजगता और खारा गांव के युवाओं के साहस के चलते तीन चोरों को मौके से ही पकड़ कर पुलिस को सौंपा गया है। अब पुलिस टीम व सेना के अधिकारी मौके के हालात का जायजा लेने के बाद पड़ताल में जुटे हैं। भारत-पाक सीमा से सटे लुढ़ायत गांव के पास सुथारवाला जाने वाली सडक़ किनारे रेत के टीलों पर करगिल युद्ध के दौरान भारतीय सेना ने बंकर बनाए थे ताकि जरूरत पड़ने पर भारतीय जवान अपनी सुरक्षा कर सके। हाल ही में कुछ चोरों की नजर उन पर पड़ गई और उन्होंने लोहे के बंकर खोल दिए। पुलिस अधीक्षक डॉ. अजय सिंह ने बताया कि अलसुबह 3 बजे ग्रामीणों ने जानकारी दी थी कि कुछ लोग बंकर खोल रहे हैं। सूचना मिलने पर तत्काल नोख थाना पुलिस मौके पर पहुंची और 3 लोगों को पकड़ा, जिन्होंने पूछताछ में बताया कि वो 13 बंकर का सामान चुरा चुके हैं। बंकर का सामान मौके पर खुला मिला। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि तीनों चोरों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस मामले में अन्य कुछ लोगों के शामिल होने की भी आशंका है, क्योंकि लोहे के वजऩी बंकर तीन लोगों की ओर से खोलकर ले जाना संभव नहीं है। उन्होंने बताया कि बंकर रेत के टीलों के नीचे लोहे से बनाए गए थे, ताकि, दुश्मन को आसानी से नजर नहीं आए और सामने से आने वाले गोला-बारूद व फायर से बचा जा सके। एक बंकर में 25 से 30 क्विंटल लोहा उपयोग में लिया गया। ऐसे में लाखों रुपए के लालच में चोर देश की सुरक्षा को ताक पर रखकर बंकरों तक पहुंच गए। पुलिस अधीक्षक सिंह ने बताया कि कारगिल युद्ध के समय में यह बंकर बनाए गए थे, बाद में सेना ने यहां से मूवमेंट कर लिया और बंकर जैसे के तैसे छोड़ दिए। जो रेगिस्तानी सुनसान इलाके में है। ऐसे में इन चोरों ने इन्हें चुरा लिया। नोख थाने के एसएचओ मोहम्मद हनीफ ने बताया कि आर्मी के एट मद्रास बिग्रेड के नायब सूबेदार पी मनोहर ने इस संबंध में रिपोर्ट दी है। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में बताया कि आर्मी की गश्त के दौरान 10-12 दिन पहले तक सभी बंकर सलामत थे, लेकिन इस अवधि में कुछ चोर लोहे के बंकर खोलकर ले जाने लगे। पुलिस ने इस मामले में जोधपुर जिले के बड़ला गांव निवासी सालेह मोहम्मद, मोहम्मद दीन व बीरबल को गिरफ्तार किया हैं, जिन्हें अदालत में पेश करने पर सोमवार को उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप-hindusthansamachar.in