there-will-be-a-ban-on-processions-and-mobile-gatherings-in-bhopal
there-will-be-a-ban-on-processions-and-mobile-gatherings-in-bhopal
देश

भोपाल में जुलूस व चल समारोहों पर रहेगी रोक

news

भोपाल, 7 सितम्बर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश में कोरेाना संक्रमण को लेकर सरकार लगातार एहतियात बरत रही है। इसी क्रम में राजधानी में आगामी समय में त्योहारों केा ध्यान में रखते हुए फैसला लिया गया है कि चल समारोह और जुलूस पर रोक रहेगी, वहीं मूर्ति व ताजिया के विसर्जन समारोह में अधिकतम 10 लोग ही शामिल हो सकेंगे। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री तथा भोपाल जिला प्रभारी मंत्री भूपेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में हुई भोपाल जिले की क्राइसिस मैनेजमेंट समिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि कोविड संक्रमण के मद्देनजर आगामी त्यौहारों में चल-समारोह और जुलूस नहीं निकाले जायें। मूर्ति व ताजिए का विसर्जन संबंधित आयोजन समिति द्वारा किया जाये। विसर्जन स्थल पर जाने के लिये अधिकतम 10 व्यक्तियों के समूह को अनुमति होगी। विसर्जन के लिये भी सामूहिक चल-समारोह प्रतिबंधित रहेगा। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने बताया कि प्रतिमा व ताजिए के लिये पंडाल का आकार अधिकतम 30़45 फीट निर्धारित किया गया है। मूर्तिकारों की बैठक तीन माह पहले ली गई थी और उन्हें यह बताया गया था कि प्रतिमाएँ मिट्टी की बनायें और ज्यादा बड़ी न हों। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि तैराकी प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले प्रतिभागियों के अभ्यास के लिये स्वीमिंग पूल खोले जा सकेंगे। इस दौरान चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग, विधायक पी.सी. शर्मा और कृष्णा गौर, नगर निगम आयुक्त के.वी.एस. चौधरी, सीईओ जिला पंचायत विकास मिश्रा एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे। ज्ञात हो कि राज्य में कोरोना की दूसरी लहर कमजोर पड़ी है मगर मरीज राजधानी में अब भी सामने आ रहे है। वहीं तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। इसके चलते जहां वैक्सीनेषन पर जोर दिया जा रहा है, वहीं कोरोना का संक्रमण न बढे इसके प्रयास जारी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जबलपुर प्रवास के दौरान कलेक्टर कर्मवीर शर्मा को वैक्सीनेशन कार्य में लगातार गति बनाए रखने के निर्देश दिए, जिससे शत-प्रतिशत लोगो का टीकाकरण सुनिश्चित हो सके। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना के हर प्रकरण पर कड़ी नजर रखी जाए। पॉजिटिव प्रकरणों की प्रतिदिन मॉनीटरिंग के साथ कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग भी की जाए, ताकि समय पर आवश्यक उपायों को लागू कर संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। --आईएएनएस एसएनपी/आरजेएस