there-was-a-demand-to-give-proper-representation-to-various-high-courts-in-the-appointment-of-judges-in-the-supreme-court
there-was-a-demand-to-give-proper-representation-to-various-high-courts-in-the-appointment-of-judges-in-the-supreme-court
देश

सुप्रीम कोर्ट में जजों की नियुक्ति में विभिन्न हाई कोर्टों को उचित प्रतिनिधित्व देने की मांग उठी

news

- द्रमुक सांसद विल्सन ने हस्तक्षेप करने के लिए राष्ट्रपति को लिखा पत्र चेन्नै, 20 जून (हि.स.)। द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के सांसद और वरिष्ठ अधिवक्ता पी विल्सन ने सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों की नियुक्ति में सामाजिक विविधता और क्षेत्रीय प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने के लिए राष्ट्रपति से हस्तक्षेप करने की मांग की है। राज्यसभा सांसद विल्सन ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर केंद्र सरकार को सर्वोच्च सुप्रीम कोर्ट में जजों की नियुक्तियों में राज्यों और हाई कोर्ट से स्वीकृत के आधार पर सभी को पर्याप्त प्रतिनिधित्व देने का निर्देश देने का आग्रह किया है। उन्होंने पत्र में बताया कि मद्रास हाई कोर्ट का सुप्रीम कोर्ट में केवल एक प्रतिनिधि है। इसके अलावा उन्होंने विभिन्न राज्यों के हाई कोर्टों के प्रतिनिधित्व को भी अनुपातहीन बताया। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में राज्य के हाई कोर्ट की स्वीकृति के अनुपात में ही सभी राज्यों का पर्याप्त प्रतिनिधि होने चाहिए। चूंकि राज्यों के बीच महत्वपूर्ण विवाद, संस्कृति, रीति-रिवाजों, भाषाओं आदि को प्रभावित करने वाले निर्णय कोर्ट तय करता है। ऐसे में प्रत्येक राज्य का प्रतिनिधित्व होना महत्वपूर्ण का है। हिन्दुस्थान समाचार/सुनील