कोरोना से माता-पिता की मौत पर नाबालिग बच्चों को तीन हजार रुपये प्रतिमाह देगी राज्य सरकार

कोरोना से माता-पिता की मौत पर नाबालिग बच्चों को तीन हजार रुपये प्रतिमाह देगी राज्य सरकार
the-state-government-will-give-three-thousand-rupees-per-month-to-the-minor-children-on-the-death-of-parents-from-corona

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की अध्यक्षता में हुई कोर समिति की बैठक में लिए गए कई निर्णय गांधीनगर/अहमदाबाद,13 मई (हि.स.)। महामारी संकट के बीच गुजरात सरकार ने कोरोना से माता-पिता की मौत के बाद नाबलिग बच्चों को तीन हजार रुपये प्रतिमाह की आर्थिक सहायत देने का निर्णय लिया है। साथ ही श्मशान घाट के कर्मियों की कोरोना से मौत होने पर उनके परिवार को 25 लाख रुपये की सहायता देने का निर्णय लिया गया। गुरुवार को गांधीनगर में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की अध्यक्षता में कोर समिति की बैठक हुई। बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया कि किसी नाबालिग बच्चे के माता पिता की कोरोना से मौत हो गई या माता या पिता की मौत के बाद वह बच्चे को छोड़कर पुनर्विवाह करता है तो भी नाबालिग बच्चे को 18 वर्ष की आयु पूरी करने तक पालक माता-पिता योजना के तहत प्रति माह प्रति बच्चे तीन हजार रुपये की सहायता सरकार की ओर से दिए जाएंगे। इसके अलावा कोर कमेटी ने ऐसे बच्चों के पालन और देखभाल का जिम्मा संस्थाओं को सौंपने का फैसला लिया है, जिनके माता-पिता कोरोना पॉजिटिव होने पर अस्पताल में भर्ती हैं। कोर समिति ने एक और महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। राज्य सरकार श्मशान में ड्यूटी करने वाले कर्मचारी की कोरोना से मौत होने पर उनके परिजनों को 25 लाख रुपये की सहायता देगी। हिन्दुस्थान समाचार/हर्ष शाह

अन्य खबरें

No stories found.