tension-in-warangal-over-unemployed-student-suicide-police-prevent-bjp-president-from-attending-funeral
tension-in-warangal-over-unemployed-student-suicide-police-prevent-bjp-president-from-attending-funeral
देश

बेरोजगार छात्र की आत्महत्या पर वारंगल में तनाव, पुलिस ने भाजपा अध्यक्ष को अंत्येष्टि में शामिल होने से रोका

news

वारंगल, 03 अप्रैल (हि.स.)। काकतिया विश्वविद्यालय में आत्महत्या का प्रयास करने वाले बेरोज़गार युवक बोडा सुनील नायक की मौत के बाद क्षेत्र में तनाव बना हुआ है। भाजपा का आरोप है कि मृतक की अंतिम संस्कार में शामिल होने जा रहे प्रदेश अध्यक्ष बंडी संजय को पुलिस ने रोक लिया और उन्हें अपने साथ ले जाकर आज सुबह हैदराबाद में छोड़ा है। दरअसल, बेरोजगारी से निराश बोडा सुनील नायक ने 27 मार्च को काकतीया विश्वविद्यालय परिसर में आत्महत्या करने के लिए कीटनाशक पी लिया था। इसके बाद सुनील को उसके साथी छात्र एमजीएम अस्पताल ले गए थे। स्थिति बिगड़ने पर उसे निम्स में भर्ती कराया गया था लेकिन उसकी शुक्रवार को मौत हो गई थी। छात्र के आत्महत्या के बाद छात्र भड़क गए और सरकार के प्रति नाराजगी व्यक्त की। इस बीच शुक्रवार देर रात गांधी अस्पताल पहुंचे बंडी संजय ने मृतक के अभिभावकों के साथ दुख बांटा। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के आने की खबर पर स्थानीय तमाम भाजपा कार्यकर्ता एकत्र हो गए।तनाव की स्थिति को देखते हुए मृतक की अंतेष्टि में शामिल होने जा रहे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंडी को पुलिस ने रोक दिया और अपने साथ ले गई। इस दौरान पुलिस और भाजपा कार्यकर्ता के बीच झड़प भी हुई। पुलिस ने तनाव के बीच भाजपा नेता संजय को पुलिस सुरक्षा में हैदराबाद भेज दिया। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय ने बेरोजगार सुनील की आत्महत्या पर गहरा दु: ख व्यक्त करते हुए इसे मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव सरकार द्वारा की गयी हत्या बताया। संजय ने कहा कि राज्य सरकार फर्जी आंकड़े दिखा कर एक लाख लोगों को रोजगार देने की बातें कर रही है। यदि सच है तो सुनील आत्महत्या क्यों की? उन्होंने सरकार से मृतक के परिवार को एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की मांग की। हिन्दुस्थान समाचार/नागराज