telangana-in-anticipation-of-second-wave-of-corona-hospitals-will-be-rebuilt-corona-hospital
telangana-in-anticipation-of-second-wave-of-corona-hospitals-will-be-rebuilt-corona-hospital
देश

तेलंगाना : कोरोना की दूसरी लहर की आशंका में अस्पतालों को फिर बनाया जायेगा कोरोना अस्पताल

news

हैदराबाद, 04 अप्रैल (हि.स.)। राज्य सरकार ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रदेश के अस्पतालों को फिर से कोरोना अस्पताल के रूप में बदलने का निर्णय लिया है। सरकार गृह एकांतवास में रहने वालों को भी कोरोना मेडिकल किट भी दी जायेगी। राज्य के स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक के बाद स्वास्थ्य मंत्री ईटेला राजेंदर ने एक बयान में बताया कि कोरोना रोगियों का इलाज करने वाले सभी अस्पतालों व प्राथमिक चिकित्सा केंद्र को फिर से कोरोना अस्पतालों के रूप में बदलने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि विभाग ने कोरोना संक्रमितों के संपर्क में आने वालों को अलर्ट करने के लिए नया ऐप विकसित किया है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि सरकार ने तीन जिला केंद्रों में स्थित सरकारी अस्पतालों में कोरोना रोगियों के लिए अलग से कोरोना वार्ड का गठन करने का भी निर्णय लिया है। उन्होंने जिला अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए आवश्यक औषधियां व 24 घंटे ऑक्सीजन आदि सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने का आदेश दिया। उन्होंने राज्य में कोरोना महामारी की दूसरी लहर आने के मद्देनजर विभाग के अधिकारियों के साथ लंबी बैठक करने के बाद आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि कोरोना इलाज करने वाले मुख्य भूमिका निभा रहे सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा स्थापित की गयी। वेंटिलेटर पर रहने वाले रोगियों के लिए ऑक्सीजन की कोई कमी होगी। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को भी ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध कराए गए हैं।अपने घरों में आइसोलेशन नहीं होने की स्थिति में रोगियों की सुविधा के लिए सभी सुविधाओं के साथ आइसोलेशन केंद्रों बनाए जा रहे हैं। इन सभी केंद्रों पर 24 घंटे डॉक्टर व अन्य स्वास्थ्य कर्मी उपलब्ध हैं और रोगियों के स्वास्थ्य पर लगातार नजर रखी जाएगी। रोगियों के लिए आवश्यक भोजन, पेजयल आदि सुविधाएं भी उपलब्ध कराई गई है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि गृह एकांतवास में रहने वालों को आवश्यक सलाह देने के लिए कॉल सेंटर काम करेगा। उन्होंने कहा कि गृह एकांतवास में रहने वालों को कोरोना मेडिकल किट भी दी जाएगी। इसी क्रम में स्वास्थ्य निर्देशक श्रीनिवास राव ने बताया कि हैदराबाद में नेचर क्यूर अस्पताल, आयुर्वेद अस्पताल, निजामी टीबी अस्पताल, फीवर अस्पताल, चेस्ट अस्पतालों को कोरोना अस्पताल और क्वारंटाइन केंद्रों के रूप में बदलने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह में इन सभी अस्पतालों को तैयार कर लिया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/नागराज