बांध मुद्दे पर तमिलनाडु का सर्वदलीय
tamil-nadu-all-party-on-dam-issue

बांध मुद्दे पर तमिलनाडु का सर्वदलीय

चेन्नई, 16 जुलाई (आईएएनएस)। तमिलनाडु में भाजपा सहित 13 सदस्यीय सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार को दोपहर 1 बजे नई दिल्ली में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से मुलाकात करेगा। तमिलनाडु के जल संसाधन मंत्री और द्रमुक के वरिष्ठ नेता एस. दुरईमुरुगन के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल केंद्रीय जल शक्ति मंत्री से मुलाकात करेगा और उन्हें कावेरी नदी पर बांध बनाने के कर्नाटक सरकार के कदम से अवगत कराएगा। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने 12 जुलाई को राज्य विधानसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले सभी राजनीतिक दलों के साथ एक बैठक बुलाई थी और कर्नाटक सरकार द्वारा मेकेदातु में बांध के निर्माण को रोकने की मांग करते हुए एक सर्वसम्मत प्रस्ताव पारित किया था। तमिलनाडु के जल संसाधन मंत्री एस. दुरईमुरुगन ने इससे पहले केंद्रीय जल शक्ति मंत्री से मुलाकात की थी और उन्हें इस मामले से अवगत कराया था। एस.दुरईमुरुगन के अलावा प्रतिनिधिमंडल के प्रतिनिधि हैं- आर.एस.भारती (डीएमके), डी. जयकुमार, (एआईएडीएमके), जी.के. मणि (पीएमके), आर.सी. पॉल कनकराज (भाजपा), एम.एच. जवाहिरुल्लाह (एमएमके), टी. वेलमुरुगन (टीवीके), एकेपी चिन्नाराज (केएनएमडीके), थोल थिरुमावलवन (वीसीके), वाइको (एमडीएमके), एन. पेरियासामी (सीपीआई), के. बालकृष्णन (सीपीआई-एम), और एम. जगन मूर्ति (पुरात्ची भारतम)। पुडुचेरी के मुख्यमंत्री एन. रंगासामी, जो केंद्र शासित प्रदेश में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार का नेतृत्व कर रहे हैं, उन्होंने भी कावेरी नदी पर मेकेदातु में बांध के निर्माण पर कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा है कि यह बांध क्षेत्र में जल प्रवाह को नुकसान पहुंचाएगा और यदि बांध का निर्माण किया जाता है तो कराईकल सहित पुडुचेरी के कई हिस्सों के किसान मुश्किल में पड़ जाएंगे। तमिलनाडु भाजपा अध्यक्ष के. अन्नामलाई ने भी मेकेदातु बांध का विरोध किया है और कहा है कि पार्टी-राज्य इकाई राज्य के किसानों के लिए है और वह कर्नाटक का समर्थन नहीं करेगी, भले ही भाजपा सरकार वहां सत्ता में है। --आईएएनएस आरएचए/आरजेएस

Related Stories

No stories found.