छात्रों ने कहा-स्थगित की जाएं जेएनयू की ऑनलाइन परीक्षाएं

 छात्रों ने कहा-स्थगित की जाएं जेएनयू की ऑनलाइन परीक्षाएं
students-said---postpone-online-examinations-of-jnu

नई दिल्ली, 7 मई (आईएएनएस)। जवाहरलाल नेहरू विश्वविश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्रों ने विश्वविद्यालय प्रशासन से मई में होने वाली ऑनलाइन परीक्षाएं स्थगित करने की मांग की है। छात्रों का कहना है कि दिल्ली में महामारी की स्थिति को देखते हुए ऑनलाइन परीक्षाएं स्थगित की जाए। उनका कहना है कि सैकड़ों छात्र व प्रोफेसर कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं ऐसे में परीक्षाएं आयोजित करवाना उचित नहीं है। जेएनयू के कई छात्रों ने इस विषय पर केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय और विश्वविद्यालय प्रशासन को एक पत्र लिखा है। शिक्षा मंत्रालय और जेएनयू प्रशासन को लिखे पत्र में, छात्रों ने दावा किया कि उनमें से कई छात्र नियमित कक्षाओं में शामिल होने की स्थिति में भी नहीं हैं। गौरतलब है कि जेएनयू में अभी तक 280 से अधिक छात्र व अध्यापक शिक्षक कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन (जुनटा) की सचिव मौसमी बसु ने कहा बताया विश्वविद्यालय प्रशासन को कोविड सुविधाओं के संबंध में दो प्रपोजल दिए गए। यह प्रपोजल कुलपति एम जगदीश कुमार के पास मौजूद हैं लेकिन उन्होंने इन पर अभी तक अपनी सहमति नहीं दी। कोरोना के दौरान भी विश्वविद्यालय में अपने प्रोजेक्टस पर काम कर रहे छात्रों ने जुनटा की सहमति से विश्वविद्यालय में कोविड सुरक्षा पर प्लान बनाने की अपील की थी। हालांकि प्रशासन ने छात्रों की मांगों पर कोई कार्यवाही नहीं की। जेएनयू छात्रों ने प्रशासन से अपने अनुरोध में कहा कि विभिन्न विश्वविद्यालयों द्वारा कक्षाओं और परीक्षाओं को स्थगित करने के हालिया फैसले के मद्देनजर, हम आनलाईन कक्षाओं और परीक्षा स्थगित करने की मांग कर रहे हैं। इसके अलावा छात्रों ने अकादमिक परिषद और बोर्ड ऑफ स्टडीज की बैठक बुलाने को लिखा है। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्रों ने प्रशासन को लिखे अपने पत्र में कहा कि 15 मई से होने वाली परीक्षाओं को तुरंत प्रभाव से स्थगित कर दिया जाए। छात्रों का कहना है कि फिलहाल बड़ी संख्या में छात्र अथवा उनके परिजन कोरोना से ग्रस्त हैं। ऐसे में छात्र मानसिक रूप से ऑनलाइन परीक्षा में शामिल होने के लिए सक्षम नहीं हैं। वहीं दिल्ली विश्वविद्यालय ने आनलाइन माध्यम से होने वाली ओपन बुक परीक्षा स्थगित कर दी है। यह परीक्षा भी 15 मई से आयोजित की जानी थी। विश्वविद्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने कार्यवाहक कुलपति के साथ मिलकर परीक्षाएं स्थगित करने का यह अहम निर्णय लिया है। विश्वविद्यालय प्रशासन के मुताबिक अब यह परीक्षाएं 1 जून से आयोजित की जाएंगी। उधर जेएनयू प्रशासन ने अपने केंद्रों और संकाय सदस्यों को पहले सेमेस्टर के लिए ऑनलाइन परीक्षा के साथ आगे बढ़ने की अनुमति दी है। कई केंद्र या विभाग पहले ही ऑनलाइन परीक्षा आयोजित कर चुके हैं। कोविड की दूसरी लहर के कारण केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने मई, 2021 के महीने में निर्धारित उच्च शिक्षण संस्थानों की सभी ऑफलाइन परीक्षाओं को स्थगित करने का आग्रह किया। उच्च शिक्षा सचिव अमित खरे ने इन संस्थानों से मई, 2021 के महीने में होने वाली सभी ऑफलाइन परीक्षाओं को स्थगित करने को कहा है। --आईएएनएस जीसीबी/जेएनएस