सोनाली ने ममता को चिट्ठी लिख कर की पार्टी में वापस लेने की मिन्नत

सोनाली ने ममता को चिट्ठी लिख कर की पार्टी में वापस लेने की मिन्नत
sonali-writes-a-letter-to-mamta-pleading-to-take-him-back-to-the-party

ओम प्रकाश कोलकाता, 22 मई (हि.स.)। विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने के बाद नाराजगी में तृणमूल छोड़कर भारतीय जनता पार्टी का दामन थामने वाली पूर्व तृणमूल विधायक सोनाली गुहा ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को मिन्नत भरी चिट्ठी लिखकर पार्टी में वापस लेने का अनुरोध किया है। उन्होंने अपनी चिट्ठी शनिवार ट्विटर पर डाली है। दरअसल टिकट नहीं मिलने के बाद उन्होंने कहा था कि दीदी बदल गई हैं। इसके बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष का हाथ पकड़कर भाजपा में शामिल हो गई थीं। उन्होंने घोष के पैर छूकर प्रणाम किया था। अब जबकि भारतीय जनता पार्टी की करारी शिकस्त हुई है और एक बार फिर बनर्जी मुख्यमंत्री बन चुकी हैं तो उन्होंने चिट्ठी लिखकर पार्टी में वापस लेने की अर्जी लगाई है। सोनाली ने अपनी चिट्ठी में लिखा है, "दीदी आप मुझे माफ नहीं करेंगी तो मैं जिंदा नहीं रहूंगी।" उन्होंने लिखा है कि भावनाओं में बहकर अभिमान में गलत पार्टी में जाने का निर्णय उन्होंने ले लिया था। सोनाली ने लिखा है कि जिस तरह से मछली पानी के बगैर जिंदा नहीं रह सकती, उसी तरह से दीदी के बगैर मैं जिंदा नहीं रह सकती हूं । दीदी आप अपने आंचल के तले रहने का मौका मुझे एक बार फिर दे दीजिए।" इस संबंध में भारतीय जनता पार्टी के मुख्य प्रवक्ता शमिक भट्टाचार्य ने कहा कि अगर कोई अपनी पुरानी पार्टी में लौट कर शांति पाता है तो हमें कोई समस्या नहीं है। हालांकि सोनाली की चिट्ठी के बारे में तृणमूल सांसद सौगत ने कहा कि गुहा को पार्टी में वापस लौटाने के बारे में अंतिम निर्णय ममता बनर्जी ही लेंगी।हिन्दुस्थान समाचार