मराठा आरक्षण के लिए नासिक में मौन प्रदर्शन

मराठा आरक्षण के लिए नासिक में मौन प्रदर्शन
silent-protest-in-nashik-for-maratha-reservation

मुंबई, 21 जून (हि.स.)। नासिक में सोमवार को मराठा आरक्षण के लिए भारतीय जनता पार्टी के नेता व राज्यसभा सदस्य संभाजी राजे भोसले के नेतृत्व में मौन प्रदर्शन किया गया। संभाजी राजे ने मराठा आरक्षण के लिए सर्वोच्च न्यायालय में रिव्यू पेटिशन दाखिल करने के लिए राज्य सरकार को 21 दिन का समय दिया है। भोसले ने कहा कि अगर राज्य सरकार ने 21 दिनों तक सर्वोच्च न्यायालय में रिव्यू पेटिशन दाखिल नहीं किया तो वे आंदोलन की नई दिशा तय करेंगे। संभाजी राजे भोसले ने कहा कि मराठा आरक्षण रद्द कर दिए जाने से मराठा समाज की हालत खराब हो गई है। राज्य सरकार को इससे पहले ही फुलप्रुफ आरक्षण देना चाहिए था, लेकिन अब पिछली बात को दोहराने से कोई लाभ नहीं होने वाला है। राज्य सरकार को 21 दिनों के अंदर सर्वोच्च न्यायालय में रिव्यू पेटिशन दाखिल करना चाहिए ताकि मामले की फिर से सुनवाई हो सके। उधर, महाराष्ट्र सरकार के मंत्री छगन भुजबल ने कहा कि उनका प्रयास भी मराठा समाज को आरक्षण दिलाने का ही है। राज्य सरकार इस दिशा में काम कर रही है। भुजबल ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने ओबीसी समाज का स्थानीय निकाय में दिया जाने वाला आरक्षण भी रद्द कर दिया है। इससे ओबीसी समाज में भी नाराजगी है। इसलिए वह चाहते हैं कि दोनों समाज को न्याय मिले, लेकिन कुछ लोग इस मुद्दे को ओबीसी व मराठा में दरार डालने का प्रयास कर रहे हैं। इसलिए दोनों समाज मिलकर आरक्षण के लिए प्रयास करें, राज्य सरकार दोनों समाज के साथ है। हिन्दुस्थान समाचार / राजबहादुर

अन्य खबरें

No stories found.