sikkim-candidates-for-11-wards-in-municipal-bodies-elected-unopposed
sikkim-candidates-for-11-wards-in-municipal-bodies-elected-unopposed
देश

सिक्किम: नगर निकायों में 11 वार्डों के उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए

news

गंगटोक, 03 अप्रैल (हि.स.)। सिक्किम के इतिहास में पहली बार चार जिलों में 31 मार्च को हुए पार्टी विहीन नगरपालिका चुनाव की शनिवार को मतगणना की गई। सभी चुनाव परिणाम आज मतगणना पूरी होने के बाद घोषित कर दिए गए। कुल सात स्थानीय नगर निकायों में 11 वार्डों के उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए हैं। नगरपालिका चुनाव 2021 की मतगणना शनिवार को सुबह 7:30 बजे शुरू हुई। इसके पहले इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) को स्ट्रांग रूम से मतगणना केंद्रों में स्थानांतरित किया गया। इस दौरान संबंधित जिले के चुनाव अधिकारी, चुनाव पर्यवेक्षक, उम्मीदवार और उनके चुनाव एजेंट मौजूद थे। वोटों की गिनती राज्य के चार जिलों के जिला प्रशासनिक केंद्रों में हुई। मतगणना केंद्रों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए। सबसे पहले पोस्टल बैलेट की गिनती हुई, जिसके बाद ईवीएम के वोटों की गिनती शुरू की गई। राज्य के चार जिलों के कुल सात स्थानीय नगर निकायों में 31 मार्च को मतदान हुआ था। इस बार पूर्वी जिले के गंगटोक नगर निगम में 62.61 प्रतिशत, सिंगताम नगर पंचायत में 71.11 प्रतिशत और रंगपो नगर पंचायत में 77.83 प्रतिशत वोट डाले गए। पश्चिम जिले के गेजिंग नगर पंचायत में 72 प्रतिशत और उत्तर जिले के मंगन नगर पंचायत में 79.14 प्रतिशत मतदान हुआ जबकि दक्षिण जिले के नामची नगर परिषद में 70.87 प्रतिशत और नया बाजार जोरथांग नगर पंचायत में 75.58 प्रतिशत वोट पड़े। पूर्वी जिले के गंगटोक नगर निगम, सिंगताम नगर पंचायत और रंगपो नगर पंचायत के 29 वार्डों में से पांच वार्डों के उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए। इसलिए आज 24 वार्डों की मतगणना हुई। इसी तरह पश्चिम जिले के गेजिंग नगर पंचायत और उत्तर जिले के मंगन नगर पंचायत के पांच-पांच वार्डों में से चार-चार वार्डों में हुए मतदान के लिए आज मतगणना हुई। दोनों नगर निकायों के एक-एक वार्डों के उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। दक्षिण जिले के नामची नगर परिषद के सात में से चार और नया बाजार जोरथांग नगर पंचायत के पांच में चार वार्डों के लिए आज मतगणना हुई। नामची नगर परिषद के तीन और नया बाजार जोरथांग नगर पंचायत के एक वार्ड के उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। सिक्किम के इतिहास में पहली बार पार्टी विहीन नगरपालिका चुनाव हुआ है। पीएस तमांग के नेतृत्व में सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा पार्टी की सरकार ने गत वर्ष विधानसभा में सिक्किम नगरपालिका अधिनियम, 2007 में संशोधित कराने के साथ नगरपालिका चुनाव को पार्टी विहीन करने का निर्णय लिया था। स्थानीय नगर निकाय में लोगों को स्वतंत्र रूप में अपना जनप्रतिनिधि चुनने का अवसर प्रदान करने और नगर निकायों को राजनीतिक हस्तक्षेप से अलग रखने के उद्देश्य के साथ राज्य सरकार ने ऐसा निर्णय लिया है। हिन्दुस्थान समाचार/बिशाल/सुनीत